DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोकसभा चुनाव नतीजे: बिहार की इस सीट पर पोस्टल बैलेट से हुआ था हार-जीत का फैसला

 bhagalpur lok sabha seat  government employees given vote by  postal ballot paper before going elec

2019 के लोकसभा चुनाव में पोस्टल बैले ने बिहार की जहानाबाद सीट पर निर्णायक भूमिका निभाई। देर रात तक पोस्टल बैलेट की गिनती के बाद ही जदयू व राजद प्रत्याशियों के बीच हार-जीत का निर्णय हो सका। दोनों उम्मीदवारों के बीच बेहद नजदीक का अंतर था। वहां पोस्टल बैलेट के 11 राउंड की गिनती के बाद राजद प्रत्याशी के खिलाफ जदयू प्रत्याशी आगे निकल गए और उनकी जीत घोषित की गयी। 

लोकसभा चुनाव में बिहार में 23 हजार 792 कीमती वोट रद्द हो गए। रद्द होने वाले ये वोट सर्विस वोटरों के पोस्टल बैलेट के थे। इनको दूसरे प्रदेशों में तैनात बिहार के नौजवान अर्धसैनिक बलों एवं सेनाकर्मियों ने अपने-अपने गृह क्षेत्र के उम्मीदवारों के पक्ष में भेज थे। ऐसे मतदाता दूसरे प्रदेशों में सुरक्षित एवं शांतिपूर्ण निष्पक्ष मतदान को सुनिश्चित करने में लगे हुए थे। भारत निर्वाचन आयोग ने बिहार के सात चरणों में 40 संसदीय क्षेत्रों के लिए कराए गए मतदान के बाद संसदीय क्षेत्रवार रद्द घोषित किए गए वोटो का ब्यौरा जारी किया है। बिहार में सर्विस वोटर की कुल संख्या 1 लाख 52 हजार 670 है। 

 

रेप केस: SC से BSP सांसद को झटका, गिरफ्तारी से छूट देने से इनकार

सबसे अधिक नवादा में 2229 वोट हुए रद्द  
सबसे अधिक नवादा में 2229 पोस्टल वोट रद्द हुए है। वहीं, झंझारपुर में 1829, आरा में 1780, गोपालगंज में 1180,  पाटलिपुत्र में 1060, मधुबनी में 998, बेगूसराय में 909, हाजीपुर में 863, सासाराम में 828, सीतामढी में 751, काकाराट में 748, पूर्वी चंपारण में 751 वोट रद्द किए गए है। इसी प्रकार सभी 40 संसदीय सीटों में अलग-अलग पोस्टल वोट रद्द हुए है। सबसे कम वैशाली में 21 वोट रद्द घोषित किए गए। औसतन सभी 40 संसदीय सीटों में 594 वोट रद्द हुए हैं। 

ईवीएम वाले वोट रद्द नहीं होते 
बैलेट पेपर (मतपत्र ) से वोट दिए जाने के दौर में वोट के रद्द होने के संख्या काफी हुआ करती थी, जो अब गुजरे जमाने की बात हो चुकी है। ईवीएम के इस्तेमाल होने के बाद अब इससे होने वाले मतदान से मतदान रद्द होने की गुंजाइश ही समाप्त हो गयी है।  

बुरी तरह हार के बाद कांग्रेस में हलचल, समूचे विपक्ष पर पड़ेगा ये असर

बिहार अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी संजय कुमार सिंह ने कहा कि पोस्टल बैलेट में दो स्थानों पर चिन्ह लगा देने, व्यक्तिगत ब्यौरा त्रुटिपूर्ण होने, चिन्ह की जगह दस्तक्ष्त कर देने अथवा मुख्य नियंत्री पदाधिकारी के हस्ताक्षर नहीं होने सहित अन्य कारणों से पोस्टल बैलेट रद्द घोषित किए जाते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lok Sabha election results: postal ballot decide defeated in Bihar jehanabad seat