DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांग्रेस कई राज्यों में खाता भी नहीं खोल पाई, अपने ही गढ़ में मिली करारी शिकस्त

लोकसभा चुनाव में बुरी तरह हार का सामना करने वाली कांग्रेस कई राज्यों में खाता खोलने में भी सफल नहीं हुई। इनमें गुजरात, उत्तराखंड, हरियाणा, राजस्थान, अरुणाचल, त्रिपुरा और गोवा शामिल हैं। कांग्रेस उन राज्यों में भी कुछ नहीं कर पाई, जहां उनकी सरकार है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लहर के सामने कांग्रेस के कई दिग्गज धाराशायी हो गए।

राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलौत के बेटे वैभव गहलौत सहित सभी सीटों पर कांग्रेस को हार का सामना करना पड़ा। मध्य प्रदेश में कांग्रेस की प्रतिष्ठा बचाने में कोई बड़ा नेता कामयाब नहीं हुआ। केवल मुख्यमंत्री कमलनाथ के बेटे नकुल नाथ के खाते में जीत आई। कई अन्य राज्यों में कांग्रेस का प्रदर्शन बेहद खराब रहा है।

संगठन व राज्यों में दिखेगा हार का असर

कांग्रेस की इस हार से राज्यों में पार्टी के भीतर हलचल बढ़ गई है। इसका असर आने वाले दिनों में संगठन और कांग्रेस शासित राज्यों में भी नजर आएगा। जानकारों का कहना है कि इस हार के बाद पार्टी को समग्र रूप से रणनीति पर मंथन करना होगा। संपर्क विशेषज्ञ शशि सिंह ने कहा कि कांग्रेस अपनी बात लोगों तक पहुंचाने में कामयाब नहीं हुई। लोगों से बेहतर तरीके से संवाद करने के मामले में भाजपा कांग्रेस से मीलों आगे रही। प्रधानमंत्री मोदी ने अपने हर नारे को जमीनी स्तर तक प्रभावी तरीके से पहुंचाया। जबकि कांग्रेस इस मामले में काफी पीछे रही। 

गहन समीक्षा की जरूरत 

कांग्रेस के नेता भी मान रहे हैं कि जिन राज्यों में खाता नहीं खुला या पार्टी के बड़े नेता भी जीतने में कामयाब नहीं हुए, वहां खासतौर पर गहन समीक्षा की जानी चाहिए। पार्टी के एक नेता ने कहा कि यह वास्तव में आत्ममंथन का वक्त है। पार्टी को प्रदेशों में अपनी जमीन मजबूत करने के लिए नए सिरे से शुरुआत करनी होगी।

पीएम नरेंद्र मोदी ने पहले से भी ज्यादा मार्जिन से जीती वाराणसी सीट

VIDEO: जब बूंदा-बांदी के बीच पीएम मोदी पर होने लगी फूलों की बारिश

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lok Sabha election results 2019 Congress can not even open account in many states