DA Image
6 अगस्त, 2020|6:09|IST

अगली स्टोरी

LIVE: लद्दाख में भारत-चीन के बीच हिंसक झड़प के बाद राजनाथ के घर एक दिन में दूसरी बार हुई हाई लेवल बैठक

high level meeting at rajnath residence ani twitter pic

1 / 2High level meeting at Rajnath residence(ANI Twitter Pic)

india-china military commanders meet on lac amidst tension in ladakh

2 / 2India-China military commanders meet on LAC amidst tension in Ladakh. (File Photo)

PreviousNext

भारत और चीन की सीमा (वास्तविक नियंत्रण रेखा) पर लद्दाख के गलवान में हिंसक झड़प के बाद दोनों देशों के बीच तनाव कम होने की और बजाय बढ़ गया है। इस हिंसक झड़प में एक भारतीय अफसर और दो जवान शहीद होने हो गए है। शहीदों में एक कमांडिंग अफसर है। इधर, इस घटना के बाद दोनों देशों के सेना के उच्च अधिकारी मौके पर बातचीत करके स्थिति को संभालने में जुटे हैं। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने तीनों सेना प्रमुखों, विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर और चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत के साथ बैठक बुलाई थी। उसके बाद फिर से उन्होंने एक दिन में दूसरी उच्चस्तरीय बैठक सेना प्रमुख और विदेश मंत्री एस.जयशंकर के साथ की। 

बता दें कि भारतीय और चीनी सैनिकों में पैंगोंग सो इलाके में 5 मई को हिंसक झड़प हुई थी जिसके बाद से दोनों पक्ष वहां आमने-सामने थे और गतिरोध बरकरार था। यह 2017 के डोकलाम घटनाक्रम के बाद सबसे बड़ा सैन्य गतिरोध बन रहा था। छह जून को हुई थी वार्ता दोनों देशों के बीच मौजूदा तनाव को लेकर अब तक की उच्च स्तरीय वार्ता 6 जून को हुई थी।

LIVE UPDATES- 

-गृह मंत्रालय में बैठक के बाद निकले आईटीबीपी के महानिदेशक एसएस देशवाल। भारत चीन सीमा पर भारतीय सेना के साथ आईटीबीपी के जवान सुरक्षा करते  हैं।

-गलवान घाटी के पेट्रोलिंग प्वाइंट 14 के पास चीन और भारतीय सेना के बीच हुई हिंसा झड़प के दौरान शहीद वाले जवानों में एक 16 बिहार रेजिमेंट के कमांडिंग ऑफिसर है।

-गलवान घाटी में हुई घटना को लेकर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के घर पर हुई उच्चस्तरीय बैठक हुई। इस बैठक में विदेश मंत्री एस जयशंकर, आर्मी चीफ एम.एम. नरवाने और सीडीएस प्रमुख बिपिन रावत मौजूद थे।   

- भारत-चीन सीमा पर दोनों देशों के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प के बीच आर्मी चीफ एमएम नरवणे ने पठानकोट स्थिति मिलिट्री स्टेशन का अपना दौरा रद्द कर दिया है। न्यूज एजेंसी एएनआई ने सेना सूत्रों के जरिए यह जानकारी दी है।

-सेना ने बयान में कहा है कि लद्दाख के गालवान घाटी में चीन के साथ हिंसक टकराव में दोनों पक्षों को सैनिक हताहत हुए हैं। सूत्रों के अनुसार, चीन के भी तीन सैनिकों के मारे जाने की भी खबर है।

 

-इधर इसपर नेताओं की प्रतिक्रिया आने शुरू हो गई है। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्वीट किया- गलवान वैली, लद्दाख से चीनी मुठभेड़ में हमारे कमांडिग ऑफ़िसर और दो सैनिकों की शहादत का समाचार मिला है। भावपूर्ण नमन सरकार से इन हालातों में भारत-चीन सीमा पर वास्तविक स्थिति के स्पष्टीकरण की अपेक्षा है।

-वहीं कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सूरजेवाला ने इस घटना पर ट्वीट किया - चौंका देने वाला, अविश्वसनीय और गवारा नहीं! क्या रक्षा मंत्री पुष्टि करेंगे?

गौरतलब है कि बीते पांच हफ्तों से गलवान घाटी में बड़ी संख्या में भारतीय और चीनी सैनिक आमने-सामने खड़े थे। यह घटना भारतीय सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे के उस बयान के कुछ दिन बाद हुई है, जिसमें उन्होंने कहा था कि दोनों देशों के सैनिक गलवान घाटी से पीछे हट रहे हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:live updates One Indian Army officer and two jawans martyred in clash over LAC Congress bid Confirm Defense Minister