DA Image
हिंदी न्यूज़ › देश › पेगासस समेत अन्य मुद्दों पर मोदी सरकार को घेरने की तैयारी, राहुल की मौजूदगी में विपक्षी दलों ने की अहम बैठक
देश

पेगासस समेत अन्य मुद्दों पर मोदी सरकार को घेरने की तैयारी, राहुल की मौजूदगी में विपक्षी दलों ने की अहम बैठक

हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Shankar Pandit
Wed, 28 Jul 2021 11:13 AM
पेगासस समेत अन्य मुद्दों पर मोदी सरकार को घेरने की तैयारी, राहुल की मौजूदगी में विपक्षी दलों ने की अहम बैठक

पेगासस जासूसी कांड से लेकर कृषि कानूनों समेत कई मुद्दों पर दोनों सदनों में मोदी सरकार को घेरने के वास्ते रणनीति बनाने और  भविष्य की कार्रवाई की रूपरेखा तैयार करने के लिए विपक्षी दलों के नेताओं ने संसद में आज सुबह एक बैठक की। संसद के दोनों सदनों के विपक्षी दलों के नेताओं की इस बैठक में राहुल गांधी भी शामिल हुए। माना जा रहा है कि इस बैठक में संसद के मौजूदा मॉनसून सत्र में सरकार को घेरने की आगे की रणनीति पर चर्चा हुई। बैठक में आम आदमी पार्टी, शिवसेना, राजद और अन्य दल शामिल हुए।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, विपक्षी नेताओं की बैठक के बाद राहुल गांधी ने कहा कि हम महंगाई, पेगासस और किसानों के मुद्दों पर कोई समझौता नहीं करना चाहते। हम सदन में चर्चा चाहते हैं। बता दें कि इस बैठक में राहुल गांधी के अलावा, मल्लिकार्जुन खड़गे, जयराम रमेश, संजय राउत, मनोज सिन्हा समेत विपक्षी दलों के कई नेता मौजूद थे। माना जा रहा है कि लोकसभा और राज्यसभा में आज भी खूब हंगाम होगा।

इससे पहले भी संसद भवन में मंगलवार को हुई बैठक में राहुल गांधी, लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी, शिवसेना के अरविंद सावंत, द्रमुक नेता टीआर बालू एवं कनिमोई, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की सुप्रिया सुले, बसपा के रितेश पांडे, माकपा के ए एम आरिफ एवं एस वेंकटेशन, नेशनल कॉन्फ्रेंस के हसनैन मसूदी, आईयूएमएल के ईटी मोहम्मद बशीर और आरएसपी के एनके प्रेमचंद्रन शामिल हुए थे।

मंगलवार की बैठक के बाद सूत्रों ने बताया कि इस बैठक में निर्णय लिया गया कि राहुल गांधी, अधीर रंजन चौधरी, अरविंद सावंत, सुप्रिया सुले, ए एम आरिफ, ईटी मोहम्मद बशीर और कुछ अन्य नेता आज यानी बुधवार को पेगासस जासूसी मामले पर कार्यस्थगन का नोटिस देंगे। इससे पहले लोकसभा की कार्यवाही मंगलवार को दिन भर के लिए स्थगित होने के बाद कांग्रेस सांसद रवनीत सिंह बिट्टू और गुरजीत सिंह औजला ने सदन के भीतर करीब चार घंटे तक धरना दिया। 

लोकसभा की कार्यवाही अपराह्न करीब चार बजकर 35 मिनट पर दिनभर के लिए स्थगित होने के बाद पंजाब के ये दोनों सांसद कृषि कानूनों को निरस्त करने के मुद्दे पर सदन के भीतर ही धरने पर बैठ गए। कांग्रेस के सदस्य केंद्र के तीन नये कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग कर रहे हैं। पेगासस और कृषि कानूनों समेत कुछ अन्य मुद्दों को लेकर पिछले कई दिनों से संसद के दोनों सदनों में गतिरोध बना हुआ है।

संबंधित खबरें