DA Image
10 अगस्त, 2020|2:40|IST

अगली स्टोरी

LAC पर तनाव कायम, सैन्य वार्ता के बाद ही पेंगोंग में टकराव खत्म होने के आसार

pangong lake in ladakh near india china lac   ap file photo

वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर भारत और चीनी सेनाओं के बीच टकराव की स्थिति कायम है। पिछले चार दिनों के दौरान चीनी सैनिकों की संख्या वहां घटी है तथा कुछ उपग्रह तस्वीरों से वाहनों एवं तंबुओं के भी हटने की सूचना है, लेकिन इसके बावजूद चीनी फिंगर-4 इलाके तक काबिज हैं।

सरकारी सूत्रों ने कहा कि फिंगर इलाके में टकराव की स्थिति अभी भी बनी हुई है। यह अलग बात है कि चीनी सैनिक वहां से पिछले तीन दिनों के दौरान लगातार कम हुए हैं, लेकिन इस इलाके में दोनों देशों के हजारों सैनिक हैं तथा फिंगर-4 इलाके में वे आमने-सामने की स्थिति में हैं। सेना चाहती है कि चीनी सैनिक पीछे जाएं और मई से पूर्व की स्थिति बहाल हो।

राजनाथ और अमेरिकी रक्षा मंत्री की टेलीफोन पर बातचीत, चीन से लद्दाख विवाद का मुद्दा उठा

सूत्रों ने कहा कि पेंगोंग इलाके में गतिरोध टूटने की उम्मीद सैन्य कमांडरों की चौथे दौर की वार्ता से है। जो मंगलवार (14 जुलाई) को हो सकती है। पेंगोंग इलाके में चीन फिंगर-4 इलाके तक आ गया है, जबकि फिंगर-8 तक के इलाके पर भारत का दावा है और भारतीय सेना वहां पेट्रोलिंग भी करती रही है।

LAC विवाद: चीन के सामने घुटने नहीं टेकने के लिए अमेरिकी सीनेटर को भारत पर गर्व

लेकिन चीन भारत के दावे को फिंगर-2 तक ही मानता है। इसलिए चीन की शर्त है कि भारत भी फिंगर-2 तक वापस लौटे जिसके लिए भारत तैयार नहीं है। फिंगर-8 से फिंगर-4 तक की दूरी करीब आठ किलोमीटर बताई जा रही है। दरअसल, यह गतिरोध का बड़ा बिन्दु है। बता दें कि पिछले चार दिनों के दौरान चीनी सेना तीन स्थानों गलवान घाटी, हॉट स्प्रिंग्स तथा गोगरा से करीब दो किलोमीटर पीछे हटी है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:ladakh pangong lake finger area clash india vs china