DA Image
6 अगस्त, 2020|2:05|IST

अगली स्टोरी

LAC पर चीन की हरकतों में इजाफा, तिब्बत के तीन एयरबेस एक्टिव, सेनाएं जवाबी कार्रवाई को तैयार

lac

लद्दाख में भारतीय सेनाएं चीन की हर गतिविधि पर नजर रखे हुए हैं तथा दुश्मन की किसी भी जवाबी कार्रवाई के लिए तैयार हैं। रक्षा सूत्रों ने यह जानकारी दी। थल सेना एवं वायुसेना ने किसी खतरे से निपटने के लिए सभी प्रकार की तैयारियां कर ली हैं। इनमें सुरक्षा बलों की अतिरिक्त तैनाती, रिहर्सल, वायुसेना विमानों की तैनाती एवं निगरानी तथा किसी दुश्मन के किसी भी हमले को निश्क्रिय बनाने के उपाय शामिल हैं।

सेना के सूत्रों ने एलएसी पर रक्षा तैयारियों में इजाफा किए जाने की पुष्टि की है, लेकिन कहा गया है कि ऐसा चीन की तरफ से सेना के बढ़ते जमावड़े और चीनी वायुसेना की संदिग्ध गतिविधियों के मद्देनर किया गया है। दोनों देशों के बीच हालांकि टकराव वाले क्षेत्रों में तनाव कम करने तथा पीछे हटने पर सहमति बनी हुई है, लेकिन एलएसी के निकट चीनी सेना की जरूरत से ज्यादा संख्या में तैनाती को लेकर उसकी मंशा पर संदेह पैदा हुआ है।

LAC पर बढ़ रहीं चीनी विमानों की नापाक हरकतें, लद्दाख में भारत ने एयर डिफेंस मिसाइलों को किया तैनात

रक्षा विशेषज्ञ लेफ्टनेंट जनरल (रिटायर्ड) राजेन्द्र सिंह ने कहा कि एलएसी पर स्थिति तनाव पूर्ण है और जिस प्रकार से चीन ने शुरू से ही आक्रामक रुख अपनाया हुआ है, उसकी सेना की जरूरत से ज्यादा उपस्थिति वहां है, उसके मद्देनर भारतीय सेना को अपनी तैयारियां करनी जरूरी हैं। उन्होंने कहा कि इस समूचे प्रकरण में चीन का रुख आक्रामक रहा है इसलिए हमारा रुख सख्त रहना चाहिए तथा चीन को यह स्पष्ट संदेश जाना चाहिए कि भारत उसे मुहतोड़ जवाब देने के लिए तैयार है।

एलएसी के निकट तिब्बत में पड़ने वाले चीन के तीन एयरबेस में लगातार गतिविधियां देखी जा रही हैं। उसके हैलीकाप्टर और विमान एलएससी के करीब भी देखे गए हैं। खबर यह भी है कि एलएसी के निकट कई स्थानों पर चीन ने हैलीपैड बनाए हैं। हालांकि ये चीन ने अपने क्षेत्र में बनाए हैं, लेकिन ये हाल में बने हैं। इनमें से कुछ हैलीपैड गतिरोध पैदा होने के बाद के हैं। इसी प्रकार कई स्थानों पर सैन्य ढांचों में भी एकाएक बढ़ोतरी देखी गई है।

नए टकराव की आहट! चीन के समुद्री दावे को लेकर आसियान देशों का सख्त बयान, बौखला सकता है ड्रैगन

सिंह ने कहा कि यदि चीन एलएसी के निकट अपनी ताकत बढ़ाता है, तो हमें उससे निपटने के लिए हर वो कदम उठाने होंगे जो जरूरी हैं। यह पूछने पर कि क्या यह युद्ध की तैयारी है, उन्होंने कहा कि युद्ध होने की आशंका नहीं है, लेकिन यह हमेशा होता है कि जब दुश्मन की तरफ से असामान्य गतिविधियां होती हैं तो हमें भी तैयार रहना होता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:LAC Ladakh Border Tension India Close Eye on Chinese Activity