ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशकंगना रनौत को थप्पड़ मारने का कोई अफसोस नहीं, कुलविंदर के भाई का खुला समर्थन

कंगना रनौत को थप्पड़ मारने का कोई अफसोस नहीं, कुलविंदर के भाई का खुला समर्थन

उनकी बहन कंगना की किसानों के विरोध पर पहले की टिप्पणियों से परेशान थी। एक वीडियो संदेश में, महिवाल ने कहा कि उन्होंने कुलविंदर कौर से मुलाकात की और उनके साथ घटना पर चर्चा की।

कंगना रनौत को थप्पड़ मारने का कोई अफसोस नहीं, कुलविंदर के भाई का खुला समर्थन
Amit Kumarपीटीआई,चंडीगढ़Tue, 11 Jun 2024 08:22 PM
ऐप पर पढ़ें

सीआईएसएफ कांस्टेबल कुलविंदर कौर को बॉलीवुड एक्ट्रेस और भाजपा सांसद कंगना रनौत को थप्पड़ मारने का कोई पछतावा नहीं है। यह दावा किसी और ने नहीं बल्कि खुद कुलविंदर के भाई शेर सिंह महिवाल ने मंगलवार को किया। शेर सिंह महिवाल किसान मजदूर संघर्ष समिति के आयोजन सचिव हैं। उन्होंने कपूरथला में कहा कि उनकी बहन कंगना की किसानों के विरोध पर पहले की टिप्पणियों से परेशान थी। एक वीडियो संदेश में, महिवाल ने कहा कि उन्होंने कुलविंदर कौर से मुलाकात की और उनके साथ घटना पर चर्चा की।

उन्होंने कहा, "उसे इस घटना पर कोई पछतावा नहीं है।" उन्होंने कहा कि उनकी बहन अब निरस्त हो चुके कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के विरोध पर कंगना की टिप्पणी से परेशान थी और इसीलिए उसने उसे थप्पड़ मार दिया। उन्होंने कहा कि अगर पंजाब सरकार या केंद्र ने उस समय एक्ट्रेस के खिलाफ कार्रवाई की होती, तो यह घटना नहीं होती।

कुलविंदर कौर ने कथित रूप से चंडीगढ़ हवाई अड्डे पर कंगना रनौत को उनकी एक पुरानी टिप्पणी को लेकर थप्पड़ मार दिया था, जिसमें रनौत ने किसान आंदोलन के दौरान 2020-21 में दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन पर बैठी महिला किसानों पर सौ-सौ रुपये लेकर धरने पर बैठने का आरोप लगाया था। 6 जून को कंगना ने एक वीडियो संदेश में आरोप लगाया था कि चंडीगढ़ हवाई अड्डे पर सुरक्षा जांच के दौरान एक महिला सीआईएसएफ कांस्टेबल ने उन्हें थप्पड़ मारा था। 

कंगना ने वीडियो जारी कर कहा कि उन्हें मीडिया और शुभचिंतकों के फोन आ रहे हैं, वह ठीक हैं। उन्होंने कहा कि चंडीगढ़ हवाई अड्डे पर जब वह सुरक्षा जांच के दौरान जा रही थी, उसी दौरान महिला सुरक्षा कर्मी ने उन्हें थप्पड़ मार दिया। उन्होंने कहा, “जब मैंने सुरक्षा कर्मी से पूछा कि उसने ऐसा क्यों किया, इसके जवाब में महिला ने कहा कि वह किसान आंदोलन की समर्थक है। पंजाब में आतंकवाद का माहौल बन रहा है, उसको कैसे रोका जाए।”