DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कर्नाटक : बीएस येदियुरप्पा ने जीता विश्वासमत, स्पीकर पद से केआर रमेश ने दिया इस्तीफा

karnataka chief minister bs yediyurappa  afp photo

1 / 2Karnataka chief minister BS Yediyurappa (AFP photo)

kr ramesh resigned from karnataka vidhan sabha speaker post on monday

2 / 2KR Ramesh resigned from Karnataka Vidhan Sabha speaker post on Monday.

PreviousNext

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने चौथे कार्यकाल के लिए पद की शपथ लेने के दो दिन बाद सोमवार को विधानसभा में बहुमत साबित कर दिया। इसी के साथ, कर्नाटक (Karnataka) में चले लंबे सियासी ड्रामे (Political Drama) का उस वक्त अंत हो गया। उधर, पूरे घटनाक्रम के दौरान लगातार विवादों में रहने वाले और जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन के 17 विधायकों को अयोग्य करार वाले के.आर. रमेश ने स्पीकर के पद से अपना इस्तीफा दे दिया।

इस्तीफा देते हुए के.आर. रमेश ने कहा- “मेरी तरफ से अगर कोई गलती हुई हो तो प्लीज उसे भूल जाएं। मैं ऐसा सोचता हूं कि यह मेरे जीवन की सबसे बड़ी उपलब्धि है। केआर रमेश ने कहा, “मैंने इस पद से खुद को अलग करने का फैसला किया है...मैंने इस्तीफा देने का फैसला लिया है।” उन्होंने उपाध्यक्ष कृष्ण रेड्डी को अपना त्यागपत्र सौंपा।

के.आर. रमेश बोले- संविधान के अनुरुप किया काम

कुमार ने कहा कि अध्यक्ष के तौर पर अपने 14 माह के कार्यकाल में उन्होंने अपने “विवेक” के अनुरूप और संविधान के मुताबिक काम किया। उन्होंने कहा, “मैंने अपनी क्षमता के अनुरूप अपने पद की गरिमा बरकरार रखने का प्रयास किया।”

केआर रमेश ने कहा- भूल जाएं गलतियां

केआर रमेश ने आगे कहा- सोनिया गांधी ने मुझे कॉल किया था और कहा था कि स्पीकर का चुनाव होना है और गठबंधन में स्पीकर का पद हमें दिया गया है। उन्होंने मुझसे पूछा कि अगर वे इसके लिए इच्छुक हों।

ये भी पढ़ें: कर्नाटक फ्लोर टेस्ट: येदयुरप्पा पास होंगे या फेल, जानें क्या है गणित

केआर रमेश ने कहा- मैं सदन से यह अपील करता हूं कि इस देश में भ्रष्टाचार की जड़ चुनाव है। बिना चुनाव में सुधार किए हम भ्रष्टाचार खत्म करने की बात नहीं कर सकते हैं। चुनाव में सुधार के लिए हमें पैसे नहीं बल्कि इच्छा की जरुरत है। हमें आवश्यक तौर पर प्रस्तावना लाना चाहिए और उसे आगे केन्द्र के पास भेजना चाहिए।

17 विधायकों को ठहराया अयोग्य

इसके पहले, के.आर. रमेश ने दल-बदल रोधी कानून के तहत पहले तीन उसके बाद रविवार को फिर से 14 बागी विधायकों को अयोग्य करार दिया। इससे पहले, कर्नाटक विधानसभा स्पीकर के.आर. रमेश ने एच.डी. कुमारस्वामी सरकार गिरने के दो दिन बाद कार्रवाई करते हुए गुरुवार को तीन विधायकों को अयोग्य घोषित कर दिया। अयोग्य घोषित किए जाने वाले विधायको में रमेश ए जरकीहोली, महेश कुमथल्ली और आर शंकर शामिल थे।

गौरतलब है कि कर्नाटक विधानसभा में एचडी कुमारस्वामी बहुमत साबित नहीं कर पाई थी। सदन में बहुमत के पक्ष में सर्फ 99 वोट ही पड़े थे जबकि विपक्ष में 105 पड़े थे।

ये भी पढ़ें: कर्नाटक में स्पीकर केआर रमेश को हटाने के लिए बीजेपी उठा सकती है ये कदम

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:KR Ramesh a key character in Karnataka drama resigns from Speaker post