Kolkata Trinamool supporters on protest in West Bengal - कोलकाता बवालः पश्चिम बंगाल में तृणमूल के समर्थक सड़कों पर उतरे, पूरे राज्य में प्रदर्शन DA Image
12 नबम्बर, 2019|8:55|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोलकाता बवालः पश्चिम बंगाल में तृणमूल के समर्थक सड़कों पर उतरे, पूरे राज्य में प्रदर्शन

एएनआई फोटो

पश्चिम बंगाल में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और केंद्र सरकार के बीच उपजे विवाद ने हाई वोल्टेज ड्रामे का रूप ले लिया है। कोलकाता पुलिस आयुक्त राजीव कुमार के खिलाफ कार्रवाई से भड़की दीदी ने जैसे ही केंद्र के खिलाफ धरने पर बैठने की घोषणा की, तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता भी सड़कों पर उतर आए। 

पूरे राज्य में तृणमूल के प्रदर्शन शुरू हो गए। कई शहरों में तृणमूल के कार्यकर्ता सड़क पर उतर आए। कई जगहों पर ट्रेनें भी रोकने की खबर है। दीदी के समर्थकों ने कई जगह बाजार भी बंद करा दिए। ऐसी भी जानकारी मिली है कि राज्यभर से कार्यकर्ता कोलकाता पहुंच रहे हैं। सोमवार को ममता ने धरने पर बैठने की घोषणा की है और तृणमूल कार्यकर्ता उन्हीं के धरने में शामिल होने के लिए कोलकाता पहुंच रहे हैं। 

‘आयुक्त ने सबूत मिटाने की कोशिश की’

सारदा घोटाले में कोलकाता पुलिस आयुक्त राजीव कुमार से पूछताछ के संबंध में सीबीआई के अंतरिम प्रमुख एम. नागेश्वर राव ने कहा है, ‘उनके (राजीव कुमार) खिलाफ सबूत हैं। उन्होंने सबूतों को मिटाने और कानून में बाधा डालने की कोशिश की है।’ उन्होंने यह भी कहा कि उन्होंने सभी सबूतों को जब्त कर लिया है। वे दस्तावेजों को सुपुर्द करने में हमारा सहयोग नहीं कर रहे हैं। यही नहीं, बहुत सारे सबूत नष्ट हो गए हैं या गायब कर दिए गए हैं। 

अगर सहयोग नहीं करते तो हिरासत में लेते : सीबीआई संयुक्त निदेशक 

सीबीआई के संयुक्त निदेशक पंकज श्रीवास्तव ने कहा कि एजेंसी के अधिकारी राजीव कुमार से पूछताछ करने गए थे। तेजी से हो रहे इस घटनाक्रम पर प्रतिक्रिया देते हुए श्रीवास्तव ने कहा, ‘हम पुलिस प्रमुख के आवास पर जांच के लिए पहुंचे। और अगर वह हमारा सहयोग नहीं करते तो हम उन्हें हिरासत में लेते।’

उनसे जब पुलिस अधिकारियों द्वारा सीबीआई कार्यालयों की घेराबंदी और उनके खुद के घर की घेराबंदी करने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘मुझे भी हिरासत में लिया गया और मेरे घर के बाहर पुलिस अधिकारी खड़े हैं।’ हालांकि संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) प्रवीण त्रिपाठी ने बताया कि सीबीआई अधिकारियों को पूछताछ के बाद थाने से जाने दिया गया है। त्रिपाठी ने कहा, ‘उन्होंने कहा कि वह यहां एक गुप्त अभियान के लिए आए थे। हमें नहीं पता कि यह किस तरह का अभियान है।’ 

कोलकाता हाइवेल्टेज ड्रामाः ममता बोलीं, मोदी-शाह चाहते हैं तख्ता पलट

कोलकाता बवालः भाजपा ने कहा-ममता सरकार लोकतंत्र का मखौल बना रही

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Kolkata Trinamool supporters on protest in West Bengal