DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छुट्टी पर भेजे गए CBI के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना पर ये है आरोप

छुट्टी पर भेजे गए सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना (फोटो: एचटी)

सीबीआई में मचे घमासान के बाद एजेंसी के डायरेक्टर आलोक वर्मा और स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना को छुट्टी पर भेज दिया गया है। वहीं छुट्टी पर भेजे जाने के खिलाफ आलोक वर्मा ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है और वहीं राकेश अस्थाना ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। राकेश की याचिका पर दिल्ली हाईकोर्ट ने अगली कार्यवाही तक अस्थाना की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है। आखिर राकेश आस्थाना पर लगे हैं क्या आरोप जानें 

अस्थाना और वर्मा के खिलाफ SIT जांच की मांग, SC सुनवाई को तैयार

सीबीआई की ओर से विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी के मुताबिक, सतीश साना से दुबई में मुलाकात के दौरान सोमेश प्रसाद ने कहा कि राकेश अस्थाना गत वर्ष लंदन में उसके आवास पर ठहरे थे। उसी समय सोमेश ने सामंत गोयल और परवेज हयात के साथ अपने संबंध होने की बात कही थी। तीन करोड़ रुपये रिश्वत मामले में सोमेश वह कड़ी है,जो लगातार सीबीआई अधिकारियों के संपर्क में रहा है। सोमेश का भाई मनोज प्रसाद भी इस मामले में नामजद हैं।

सीबीआई में कोहराम: पीएमओ की सुन लेते तो नहीं होती कार्रवाई

दर्ज प्राथमिकी के अनुसार 13 फरवरी 2018 को डीएसपी देवेंद्र कुमार ने ई-मेल के माध्यम से सतीश साना को सीआरपीसी की धारा 160 के तहत नोटिस भेजा था, जिसमें कहा गया कि उसे 19 फरवरी 2018 को सीबीआई मुख्यालय में पेश होना है। यह नोटिस मिलने के बाद वह परेशान हो गया कि 2.95 करोड़ रुपये देने के बाद भी उसे नोटिस भेजा जा रहा है। इसके बाद उसे एक और नोटिस भेजा गया। नोटिस मिलने के बाद सतीश साना ने मनोज प्रसाद से टेलीफोन पर संपर्क किया और कहा कि मुझ से वादा किया गया था कि नोटिस नहीं भेजा जाएगा, लेकिन यह क्या हो रहा है। इस पर मनोज ने कहा कि जो बैलेंस पेमेंट दो करोड़ देना है वह दे दो उसके बाद सीबीआई तुम्हे पूरी तरह से राहत दे देगी।

 

CBI मामला: अगस्ता वेस्टलैंड, विजय माल्या केस खुद देखेंगे नागेश्वर राव

19 फरवरी 2018 को सतीश साना सीबीआई मुख्यालय पहुंचा उसके बाद 20 फरवरी को। वहां डीएसपी देवेंद्र कुमार ने फिर से वहीं सवाल किए कि तुमने मोइन कुरैशी को वर्ष 2011 में 50 लाख रुपये रिश्वत दी थी। उसने इस सवाल का जबाव ना में दिया। अगले दिन यानी 21 फरवरी को सतीश दुबई चला गया और वहां पहुंच कर मनोज प्रसाद से मिला। मनोज ने बताया कि सोमेश प्रसाद इस समय दुबई में नहीं हैं। मनोज ने उससे कहा कि जो बैलेंस बचा है वह दे दो। सीबीआई अधिकारी भी दुबई के लिए आ रहा है चाहे तो तुम मिल सकते हो , लेकिन सतीश ने सीबीआई अधिकारी से मिलने से इनकार कर दिया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Know what allegation against CBI Special director Rakesh Asthana