DA Image
26 अक्तूबर, 2020|5:10|IST

अगली स्टोरी

जम्मू-कश्मीर में इंटरनेट बंद होने के बाद जानें कितने लोगों को मिला आयुष्मान भारत योजना का लाभ

प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में इंटरनेट सेवाएं स्थगित किये जाने के बाद सात हजार से अधिक लोगों का आयुष्मान भारत योजना के तहत इलाज किया गया है। डॉ. सिंह ने उधमपुर, डोडा, किश्तवाड़, कठुआ और रियासी के लाभार्थियों को 'दिवाली मिलन' समारोह के आयोजन के दौरान संबोधित करते हुए कहा कि आयुष्मान भारत योजना लाभ हालांकि एक ऑनलाइन प्रक्रिया है लेकिन राज्य में पांच अगस्त से इंटरनेट सेवाएं स्थगित होने के बाद इस योजना के तहत सात हजार के अधिक मामले ऑफलाइन निपटाए गए। उन्होंने लाभार्थियों से अपील की कि वे इस योजना का प्रचार-प्रसार करें ताकि अधिक से अधिक लोग इसका लाभ उठा सकें। 

केंद्रीय मंत्री ने बताया कि आयुष्मान योजना पंजीकरण के मामले में जम्मू-कश्मीर शीर्ष पर पहुंच गया है। एक दिसंबर 2018 से अब तक 60 प्रतिशत से अधिक लोगों का आयुष्मान भारत योजना के तहत पंजीकरण किया गया है। इस योजना के तहत विभिन्न सेवा प्रदाताओं को 22.5 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया है जिनमें से 15.58 करोड़ रुपये अस्पतालों को दिये जा चुके हैं। 

डॉ. सिंह ने बताया कि सरकारी अस्पतालों के अलावा 30 निजी और 126 सार्वजनिक अस्पतालों में भी 'गोल्डन कार्ड' धारी लोगों को लाभ दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि 2014 में नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद से लोगों के कल्याण एवं लाभ के लिए कई योजनाएं शुरू की गयी। मोदी सरकार ने वोट बैंक के लिए कभी किसी को फायदा नहीं पहुंचाया बल्कि वह देश के हर कोने की जनता के लिए काम करते हैं। 
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Know how many people got benefit of Ayushman Bharat scheme after internet shutdown in Jammu and Kashmir