DA Image
4 अप्रैल, 2020|4:29|IST

अगली स्टोरी

जानें, नवरात्र पर कितनी महंगी हुई गेंदे की माला

marigold garland

नवरात्र की पूर्व संध्या पर फूल मंडियों में फूल-मालाओं के दाम यूं ही बढ़े रहते हैं मगर इस बार उनके दाम में जबर्दस्त उछाल दिख रही है। शनिवार को गेंदे की माला सात हजार रुपये तक सैकड़ा जबकि गुड़हल की माला 22 सौ रुपये सैकड़े तक बिकी। गुलाब की पंखुड़ियों, बेला आदि फूलों के भी दाम चढ़े हैं। 

किसानों और व्यापारियों का कहना है कि बारिश व बाढ़ से फूलों के दाम में तेजी आई है। बारिश के कारण इस बार कोलकाता से भी फूलों की कम आवक हुई है। दाम बढ़ने की यह भी बड़ी वजह है। पिछले दिनों आई बाढ़ से काफी इलाकों में फूलों की फसल नष्ट हो गई। इस नाते अगस्त के बाद से मालाओं के दाम आसमान में ही बने रहे। विक्रेताओं को उम्मीद थी कि नवरात्र आते-आते दाम घटेंगे मगर इधर बीच व्यापक बारिश ने दाम उतरने नहीं दिया। क्योंकि अब फूलों की फसल लगातार बारिश से प्रभावित हुई है। 

शनिवार को मंडियों में फुटकर व्यापारी व आमलोग खरीदारी करने पहुंचे थे। वहां बड़े गेंदे की माला चार से सात हजार रुपये सैकड़े और छोटे गेंदा की माला एक से दो हजार रुपये सैकड़े बिक रही थी। आम दिनों में गुड़हल की माला दो से पांच सौ रुपये सैकड़ा बिकती है। शनिवार को उसका दाम हजार से डेढ़ हजार प्रति सैकड़ा था। इसके अलावा बेला की माला आठ से एक हजार रुपये सैकड़ा, टेंगरी की माला तीन से पांच सौ रुपये सैकड़ा, गुलाब की पंखुड़ी दो सौ रुपये किलो तथा सफेद माला दो सौ रुपये जोड़ा बिका। 

इंग्लिशिया लाइन फूलमंडी के संचालक प्रमोद दुबे ने बताया कि किसानों के पास फूल कम है और कोलकात्ता आदि शहरों से भी फूल नहीं आ रहा है। वहां भी बारिश से फूल की फसल खराब हुई है। इसकी वजह से मालाएं महंगी हैं। 
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Know how expensive the marigold garland is on Navratri