ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशKisan Andolan: आंदोलन के दौरान एक और किसान की गई जान, खनौरी बॉर्डर पर मंजीत सिंह की मौत

Kisan Andolan: आंदोलन के दौरान एक और किसान की गई जान, खनौरी बॉर्डर पर मंजीत सिंह की मौत

किसान मंजीत सिंह कांगथला गांव के रहने वाले थे और किसान आंदोलन में हिस्सा ले रहे थे। इसी दौरान उनकी मौत हो गई। इससे पहले बीते शुक्रवार को ही हरियाणा के शंभू बॉर्डर पर एक और किसान की जान गई थी।

Kisan Andolan: आंदोलन के दौरान एक और किसान की गई जान, खनौरी बॉर्डर पर मंजीत सिंह की मौत
Madan Tiwariहिन्दुस्तान टाइम्स,नई दिल्लीSun, 18 Feb 2024 10:17 PM
ऐप पर पढ़ें

Kisan Andolan: न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) को कानून बनाए जाने समेत तमाम अन्य मुद्दों को लेकर किसान संगठनों का आंदोलन जारी है। दिल्ली की ओर बढ़ने की कोशिश कर रहे हजारों की संख्या में किसानों का हरियाणा और पंजाब की सीमा पर पुलिस से जबरदस्त आमना-सामना हो रहा है। इस बीच, रविवार को आंदोलन कर रहे खनौरी बॉर्डर पर एक और किसान की मौत हो गई। 

भारतीय किसान यूनियन क्रांतिकारी से जुड़े किसान मंजीत सिंह कांगथला गांव के रहने वाले थे और किसान आंदोलन में हिस्सा ले रहे थे। इसी दौरान उनकी मौत हो गई। इससे पहले बीते शुक्रवार को ही हरियाणा के शंभू बॉर्डर पर एक और किसान की जान गई थी। 65 साल के ज्ञान सिंह को हार्ट अटैक आया था, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया, लेकिन उनकी जान नहीं बचाई जा सकी थी। वह गुरदासपुर जिले के रहने वाले थे।

हजारों किसान अपनी विभिन्न मांगों को लेकर पंजाब और हरियाणा की सीमा पर शंभू और खनौरी में डटे हुए हैं तथा किसानों के 'दिल्ली चलो' मार्च को राष्ट्रीय राजधानी में प्रवेश से रोकने के लिए बड़ी संख्या में सुरक्षा बल तैनात हैं। एमएसपी के लिए कानूनी गारंटी के अलावा, किसान कृषकों के कल्याण के लिए स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने, किसानों और खेत मजदूरों के लिए पेंशन तथा कर्ज माफी, लखीमपुर खीरी हिंसा के पीड़ितों के लिए न्याय, भूमि अधिग्रहण अधिनियम 2013 को बहाल करने और पिछले आंदोलन के दौरान मारे गए किसानों के परिवारों को मुआवजा देने की भी मांग कर रहे हैं।

उधर, केंद्रीय मंत्रियों और किसान नेताओं के बीच रविवार शाम को चंडीगढ़ में चौथे दौर की बातचीत शुरू हो गई है। किसान उपज के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) के लिए कानूनी गारंटी समेत अन्य मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। केंद्रीय कृषि मंत्री अर्जुन मुंडा, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय किसान नेताओं के साथ बैठक के लिए सेक्टर-26 स्थित महात्मा गांधी राज्य लोक प्रशासन संस्थान पहुंचे। पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान भी बैठक में शामिल हुए हैं। केंद्रीय मंत्रियों और किसान नेताओं के बीच इससे पहले आठ, 12 और 15 फरवरी को मुलाकात हुई लेकिन बातचीत बेनतीजा रही थी। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें