ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशशुभकरण का शव खनौरी बॉर्डर ला रहे किसान, आज होगा दिल्ली कूच का भी ऐलान; पंजाब में FIR

शुभकरण का शव खनौरी बॉर्डर ला रहे किसान, आज होगा दिल्ली कूच का भी ऐलान; पंजाब में FIR

पंजाब के किसान संगठन आज आंदोलन के दौरान मारे गए शुभकरण सिंह का शव खनौरी बॉर्डर लेकर आ रहे हैं। किसान शव को लेकर आंदोलन करेंगे। इस दौरान उनकी ओर से दिल्ली कूच का भी ऐलान किया जा सकता है।

शुभकरण का शव खनौरी बॉर्डर ला रहे किसान, आज होगा दिल्ली कूच का भी ऐलान; पंजाब में FIR
Surya Prakashलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 29 Feb 2024 10:12 AM
ऐप पर पढ़ें

किसान आंदोलन के दौरान पंजाब एवं हरियाणा को जोड़ने वाले खनौरी बॉर्डर पर मारे गए शुभकरण सिंह का शव आज वहीं पर पहुंच रहा है। खनौरी बॉर्डर पर आज आंदोलनकारी किसान अपने 21 साल के साथी का शव लेकर पहुंचेंगे। आज ही दिल्ली कूच का एक बार फिर से ऐलान किया जा सकता है, जिसे 25 से 29 फरवरी तक के लिए स्थगित किया गया था। किसानों ने शुभकरण का पोस्टमार्टम भी नहीं होने दिया था। उनकी मांग थी कि इस मामले में पहले दोषी अफसरों के खिलाफ एफआईआर की जाए। अब पंजाब पुलिस ने इस मामले में हत्या का केस दर्ज कर लिया है। 

किसानों की मांग थी कि इस मामले में हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज और पुलिस के अधिकारियों पर एफआईआर दर्ज की जाए। पुलिस ने आईपीसी की धारा 302 और 114 के तहत केस दर्ज किया है। पुलिस ने हत्या और अपराध के लिए उकसाने को लेकर मामला दर्ज किया है। अभी किसी को नामजद नहीं किया गया है। वहीं, अभी तक शुभकरण का पोस्टमोर्टेम नहीं करवाया गया था और किसान अपनी मांगों पर कायम थे। आज उसके शव को खनौरी बॉर्डर पर लाया जाएगा। इसके बाद पैतृक गांव में शुभकरण सिंह का अंतिम संस्कार होगा। 

बुधवार रात को राजिंदरा अस्पताल में शुभकरण के पार्थिव शरीर का पोस्टमार्टम किया गया। किसान आज ही एक बार फिर से दिल्ली कूच का ऐलान कर सकते हैं। किसान नेता सरवन सिंह पंढेर ने कहा कि खनौरी और शंभू बॉर्डर पर मार्च का आज 17वां दिन है, हमें जानकारी मिली है कि शुभकरण सिंह की मृत्यु के मामले में आईपीसी की धारा 302 और 114 के तहत एफआईआर दर्ज़ की गई है। साथ ही आज हम शुभकरण सिंह के शव को खनौरी बॉर्डर पर ले जाएंगे और शुभकरण सिंह का अंतिम संस्कार उनके पैतृक गांव में किया जाएगा। 

दो बहनों का इकलौता भाई था

शुभकरण के परिवार वालों ने पंजाब सरकार के सामने मांग रखी थी कि जब तक भगवंत मान सरकार शुभकरण के हत्‍यारों को सजा नहीं देगी, तब तक उसका अंतिम संस्‍कार नहीं किया जाएगा। शुभकरण सिंह की उम्र करीब 21 साल थी। वह दो बहनों का इकलौता भाई था, जिनके पिता चरणजीत सिंह स्कूल वैन ड्राइवर हैं और मां की पहले ही मौत हो चुकी है। भारतीय किसान एकता सिद्धपुर यूनियन से ताल्लुक रखने वाला शुभकरण सिंह बीती 13 फरवरी को दिल्ली की तरफ किसानों के साथ कूच करते हुए खनौरी बॉर्डर पर पहुंचा था। 

पंजाब पुलिस ने हरियाणा के जींद में बताया घटनास्थल

पंजाब पुलिस ने मृतक शुभकरण के पिता की शिकायत पर अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ पटियाला के पातडा थाने में मामला दर्ज किया है। एफआईआर में धटनास्थल खनौरी के पास हरियाणा के जींद जिले के गढ़ी में बताया गया है। इससे पहले पंजाब सरकार की ओर से शुभकरण के परिवार को को 1 करोड़ रुपए की मुआवज़ा देने की घोषणा की थी। शुभकरण की छोटी बहन को पंजाब सरकार की ओर से नौकरी देने की भी बात कही गई थी। भगवंत मान सरकार ने कहा था कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर मामला दर्ज किया जाएगा।

रिपोर्ट: मोनी देवी

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें