ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशजेल से ही अपना नामांकन भरेगा खालिस्तानी अमृतपाल सिंह, हाई कोर्ट ने दे दिया बड़ा झटका

जेल से ही अपना नामांकन भरेगा खालिस्तानी अमृतपाल सिंह, हाई कोर्ट ने दे दिया बड़ा झटका

पंजाब सरकार ने पंजाब-हरियाणा हाई कोर्ट को जानकारी दी कि सोमवार को अमृतपाल सिंह के नामांकन का काम पूरा हो जाएगा। इस जानकारी के बाद हाई कोर्ट ने अमृतपाल सिंह की याचिका का निपटारा कर दिया।

जेल से ही अपना नामांकन भरेगा खालिस्तानी अमृतपाल सिंह, हाई कोर्ट ने दे दिया बड़ा झटका
Niteesh Kumarमोनी देवी, लाइव हिन्दुस्तान,चंडीगढ़Fri, 10 May 2024 07:44 PM
ऐप पर पढ़ें

जेल में बंद खालिस्तानी समर्थक और वारिस पंजाब दे प्रमुख अमृतपाल सिंह लोकसभा चुनाव के लिए जेल में ही अपना नामांकन भरेगा। उसका नामांकन जेल के सुपरिंटेंडेंट जेल में ही करवाएंगे। पंजाब सरकार ने पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट को जानकारी दी कि सोमवार को अमृतपाल सिंह के नामांकन का काम पूरा हो जाएगा। इस जानकारी के बाद हाई कोर्ट ने अमृतपाल सिंह की याचिका का निपटारा कर दिया। इस तरह से हाई कोर्ट ने साफ कर दिया है कि उसे नामांकन दाखिल करने के लिए कोई रिहाई नहीं मिलेगी। 

अमृतपाल सिंह ने हाई कोर्ट में याचिका दाखिल कर चुनाव नामांकन के लिए 7 दिन के लिए रिहा करने का आदेश जारी करने की अपील की थी। अगर यह संभव नहीं है तो इसके विकल्प में चुनाव आयोग को निर्देश दिया जाए कि जेल में ही उसका नामांकन भरने का इंतजाम करे। साथ ही उसने अपील की है कि डिब्रूगढ़ के एचडीएफसी बैंक के जरिए तरनतारन के एचडीएफसी बैंक में खाता खोलने की इजाजत दी जाए। नामांकन भरने के लिए उसे एक प्रपोजर से मिलने की भी अनुमति दी जाए।

अमृतपाल सिंह के पिता ने मुख्य चुनाव अधिकारी को लिखा पत्र
2 मई को अमृतपाल सिंह के पिता ने पंजाब के मुख्य चुनाव अधिकारी पंजाब को पत्र लिखा था। याचिकाकर्ता की ओर से लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए अपना नामांकन दाखिल करने के लिए आवश्यक निर्देश और दिशा-निर्देश प्रदान करने की मांग की थी। तीन मई को उसके पिता ने डीएम अमृतसर को एक और पत्र लिखा गया था जिसमें अधीक्षक, केंद्रीय जेल, डिब्रूगढ़ को याचिकाकर्ता को शपथ दिलाने और एक प्रमाणित प्रति रिटर्निंग अधिकारी को भेजने के लिए निर्देश देने की मांग थी।

6 मई को उन्होंने भारत के मुख्य चुनाव आयुक्त और मुख्य चुनाव अधिकारी पंजाब को भी पत्र लिखा। उन्होंने नामांकन दाखिल करने और चुनाव नियमों के तहत अन्य औपचारिकताओं को पूरा करने में सुविधा प्रदान करने के लिए जरूरी साधन उपलब्ध कराने को कहा। 7 मई को चुनाव आयोग ने इस मामले में आवश्यक दिशा-निर्देश मुख्य चुनाव अधिकारी पंजाब को भेजे और उनसे उक्त दिशा-निर्देशों के अनुसार आवश्यक कार्रवाई करने को कहा। 8 मई को पंजाब के मुख्य चुनाव अधिकारी ने डिप्टी कमिश्नर-कम-जिला चुनाव अधिकारी, तरनतारन को पत्र लिखकर आवश्यक कार्रवाई करने और याचिकाकर्ता को चुनाव लड़ने में मदद करने के लिए कहा था। 

कागजात के 2 सेट भेजे गए डिब्रूगढ़ जेल  
9 मई को नामांकन फॉर्म और अन्य कागजात के 2 सेट डिब्रूगढ़ जेल भेजे गए और साइन किए गए। जेल में प्रपोजर से मिलने की भी इजाजत दी गई। पंजाब सरकार ने हाईकोर्ट में कहा कि जेल में उनके नामांकन के कागज पूरे किए जा रहे हैं। डिब्रूगढ़ जेल सुप्रीटेंडेट को अथोरिटी दी गई है कि वह नामांकन के कागज और संविधान की शपथ अपनी देखरेख में करवाएं। वहां से कागज ले कर अमृतपाल का परिवार खड़ूर साहिब आएगा और नामांकन दाखिल करेगा। अमृतपाल खडूर साहिब लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहा है। वह निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ेगा। अमृतपाल की मां बलविंदर कौर ने इस संबंध में जानकारी दी थी। उन्होंने कहा कि अमृतपाल पंजाब के मुद्दों को अच्छी तरह से जानता है और ये चुनाव उन्हीं मुद्दों पर लड़ा जाएगा।