अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बर्बरता : एक किलो चावल चुराने वाले युवक को पीट-पीट कर मार डाला, भीड़ बनाती रही वीडियो

kerala man beaten up

केरल में एक आदिवासी युवक को चोरी के आरोप में भीड़ ने पीट-पीट कर मार डाला। युवक को 'मानसिक रूप से अस्वस्थ' बताया जा रहा है। गुरुवार को हुई इस हिंसक घटना में शामिल युवक ने घटना से कुछ देर पहले सेल्फी खींच कर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दी, जिसके बाद पूरे प्रदेश में इस घटना पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की गई है। पुलिस ने घटना में शामिल सात संदिग्धों में से 2 को गिरफ्तार कर लिया है।

घटना के बाद ट्विटर पर एक व्यक्ति ने पोस्ट किया, “सीएमओकेरला...कृपया इस मामले में तत्काल कार्रवाई करें और दोषियों को कानून के कटघरे में खड़ा करें।” पीड़ित युवक मधु की मां ने शुक्रवार को पत्रकारों से कहा, “कल(गुरुवार) मेरे बेटे को कुछ लोगों ने अट्टापड्डी-अगाली के समीप चोर कहकर पीटा। उसके बाद उसे पुलिस के हवाला कर दिया, जहां उसकी हालत बिगड़ने पर उसे अस्पताल ले जाया गया। अस्पताल में उसकी मौत हो गई। वह चोर नहीं था, बल्कि मानसिक रूप से अस्वस्थ था।”

पूरे घटना को मोबाइल से शूट किया गया और सोशल मीडिया पर डाल दिया गया। अभिनेता-निदेर्शक जॉय मैथ्यू ने जब इस घटना से का वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किया, तब जाकर मुख्यमंत्री पिनरई विजयन समेत कई नेताओं ने घटना की निंदा की।

मैथ्यू ने कहा, “यह हाल के दिनों में एक प्रकार की फासीवादी मलयाली मानसिकता उभरी है और इसे रोकने की जरूरत है। अगर पुलिस सोशल मीडिया पर इसे साझा करने के लिए मुझे गिरफ्तार करना चाहती है, तो उन्हें ऐसा करने दीजिए।” विजयन ने अपने फेसबुक पोस्ट में कहा, “यह एक शिक्षित समाज के लिए और राज्य ने जिस तरह की प्रगति की है, उसके लिए सही तरीका नहीं है। मैंने राज्य पुलिस प्रमुख को इस मामले को देखने का निदेर्श दिया है। जो भी इस घटना में संलिप्त हैं, उन्हें कानून के कटघरे में खड़ा किया जाए।”

स्थानीय आदिवासी समुदाय ने घटना के प्रति विरोध जताया और मांग की है कि अगर घटना के पीछे शामिल लोगों को गिरफ्तार नहीं किया गया तो वे लोग विरोध प्रदर्शन शुरू करेंगे। राज्य के एससी/एसटी मंत्री ए.के. बालन ने पत्रकारों से कहा, “जिन्होंने यह दावा किया है कि युवक चोर था, यह आरोप उनका है। राज्य सरकार काफी कड़ाई से इसकी जांच करेगी और जिसने भी इस घटना को अंजाम दिया है, उसे बख्शा नहीं जाएगा।”

राज्य पुलिस प्रमुख लोकनाथ बेहरा ने कहा कि उन्होंने यह मामल त्रिसूर के पुलिस महानिरीक्षक को सौंप दिया है और जो भी इस घटना के पीछे है, उसे छोड़ा नहीं जाएगा।

सीएम ने दिया कार्रवाई का भरोसा

इस घटना की मुख्यमंत्री पिनारयी विजयन ने निंदा की है, उन्होंने कहा कि इस तरह की घटना को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। यह एक जघन्य अपराध है, किसी भी सभ्य समाज में इस तरह की घटना को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। दोषियों के खिलाफ सरकार सख्त कार्रवाई करेगी। डीजीपी लोकनाथ बेहरा ने कहा कि इस मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन कर दिया गया है, आरोपियों को बख्शा नहीं जाएगी।

मुख्य सचिव मारपीट मामला: 60 पुलिसकर्मियों ने खंगाला CM आवास, जब्त किए 21 सीसीटीवी कैमरे, भड़के केजरीवाल

झटका: एफएटीएफ की ‘ग्रे लिस्ट’ देशों में शामिल होने जा रहा है पाकिस्तान

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:kerala tribal youth beaten by mob till death and take selfie social media viral