ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशदहेज ने परिवार से छीनी बेटी; शादी टूटने पर लेडी डॉक्टर का सुसाइड, BMW कार और 15 एकड़ जमीन की थी डिमांड

दहेज ने परिवार से छीनी बेटी; शादी टूटने पर लेडी डॉक्टर का सुसाइड, BMW कार और 15 एकड़ जमीन की थी डिमांड

लड़के वालों ने दहेज में बीएमडब्ल्यू कार, 150 पाउंड सोना और 15 एकड़ जमीन की डिमांड की। जब लड़की वाले ये शर्त पूरी नहीं कर पाए तो उन्होंने शादी तोड़ दी। दुखी लेडी डॉक्टर ने आत्महत्या कर ली है।

दहेज ने परिवार से छीनी बेटी; शादी टूटने पर लेडी डॉक्टर का सुसाइड, BMW कार और 15 एकड़ जमीन की थी डिमांड
Gaurav Kalaलाइव हिन्दुस्तान,तिरुवंतपुरमThu, 07 Dec 2023 03:28 PM
ऐप पर पढ़ें

केरल के तिरुवंतपुरम से हृदय विदारक घटना सामने आई है। 26 साल की एक लेडी डॉक्टर ने दहेज के कारण शादी टूटने के बाद लोक-लाज के डर से आत्महत्या कर ली। पुलिस अधिकारियों ने मामले में दूल्हा और उसके परिवारवालों के खिलाफ केस दर्ज किया है। इसके बाद आरोपी दूल्हे को गिरफ्तार कर लिया गया। बताया जा रहा है कि वर पक्ष ने लड़की वालों से 150 पाउंड सोना, बीएमडब्ल्यू कार और 15 एकड़ जमीन की डिमांड की थी। मांग पूरी नहीं कर पाने पर लड़के वालों ने शादी तोड़ दी थी। राज्य की स्वास्थ्य मंत्री ने मामले में जांच के आदेश दिए हैं। सुसाइड करने वाली लड़की मेडिकल कॉलेज के सर्जरी डिपार्टमेंट से पोस्ट ग्रेजुएट कर चुकी थी।

पुलिस ने आरोपी डॉक्टर को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया। तिरुवनंतपुरम मेडिकल कॉलेज के प्रमुख डॉक्टर और केरल मेडिकल पोस्टग्रेजुएट्स एसोसिएशन (केएमपीजीए) के राज्य समिति के सदस्य डॉ. ईए रुवैस को बुधवार देर रात कोल्लम जिले के करुनागप्पल्ली में एक रिश्तेदार के घर से हिरासत में लिया गया और घंटों तक पूछताछ की गई। उन्हें औपचारिक रूप से गिरफ्तार कर लिया गया है और उन पर आत्महत्या के लिए उकसाने और दहेज निषेध अधिनियम, 1961 के अन्य प्रावधानों के तहत आरोप लगाया गया है। स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने भी उन्हें स्वास्थ्य विभाग से निलंबित करने की घोषणा की और महिला एवं बाल कल्याण विभाग के निदेशक को जांच के आदेश दिए हैं। जांच की पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए रुवैस को केएमपीजीए से भी निलंबित कर दिया गया है। जॉर्ज ने फेसबुक पर लिखा, "यह एक गंभीर मुद्दा है और इस तरह की घटनाएं बिल्कुल भी स्वीकार्य नहीं हैं।"

तिरुवनंतपुरम मेडिकल कॉलेज में पोस्ट ग्रेजुएट मेडिकल छात्रा शहाना ने आत्महत्या कर ली है। मामले में पुलिस ने मेडिकल पीजी एसोसिएशन के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ रुवाइज ईए के खिलाफ मामला दर्ज किया है। उन पर आत्महत्या के लिए उकसाने और दहेज प्रतिषेध अधिनियम की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। प्रकरण के सुर्खियों में आने के बाद केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने जांच के आदेश दिए। साथ ही महिला एवं बाल विकास विभाग के निदेशक को जल्द से जल्द रिपोर्ट सौंपने के आदेश दिए हैं।

शादी से पहले डिमांड बढ़ाई और फिर तोड़ा रिश्ता
मिली जानकारी के अनुसार, तिरुवनंतपुरम के सरकारी मेडिकल कॉलेज में सर्जरी विभाग की 26 वर्षीय पोस्ट ग्रेजुएट डॉक्टर शहाना मंगलवार को अपने अपार्टमेंट में मृत पाई गईं। रूवाइज और शहाना की शादी तय हो चुकी थी। लेकिन आरोप है कि बाद में रूवाइज के परिवार ने दहेज के रूप में 150 पाउंड सोना, 15 एकड़ जमीन और एक बीएमडब्ल्यू कार की मांग कर दी। इससे पहले शहाना का परिवार 50 पाउंड सोना, 50 लाख रुपये की संपत्ति और एक कार देने पर सहमत हुआ था। हालांकि, लड़के वालों का परिवार इस बात के लिए राजी नहीं हुआ और शादी से पीछे हट गया। लेडी डॉक्टर के परिवारवालों का कहना है कि इससे शहाना टूट गई और डिप्रेशन में चली गई।

ड्यूटी के बजाय मौत को लगाया गले
शहाना को सोमवार को सर्जरी आईसीयू में नाइट ड्यूटी ज्वाइन करनी थी, लेकिन उसने रिपोर्ट नहीं की। जब एक सहकर्मी ने उसे फोन किया तो उसने कोई जवाब नहीं दिया। जब उसके दोस्त बाद में फ्लैट पर पहुंचे, तो उन्होंने पाया कि दरवाजा अंदर से बंद था। इसके बाद उन्होंने पुलिस को सूचित किया। दरवाजा तोड़ा गया तो वह अंदर बेहोश मिली। उसे तुरंत मेडिकल कॉलेज अस्पताल ले जाया गया लेकिन तब तक देर हो चुकी थी। डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। 

सुसाइड नोट में खोली पोल
पुलिस के अनुसार, उसने एनेस्थेटिक दवा की हाई डोज का इंजेक्शन लगाकर अपनी जान दी। शहाना ने एक सुसाइड नोट छोड़ा था जिसे पुलिस ने बरामद किया। उसमें लिखा था, "हर कोई केवल पैसा चाहता है"। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें