ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशकेसीआर ने दोपहर 1:19 बजे लॉन्च की अपनी नई राष्ट्रीय पार्टी, इस समय के पीछे छुपा है कौन सा राज?

केसीआर ने दोपहर 1:19 बजे लॉन्च की अपनी नई राष्ट्रीय पार्टी, इस समय के पीछे छुपा है कौन सा राज?

मुख्यमंत्री केसीआर ने अपने कैबिनेट सहयोगियों और पार्टी के सभी 33 जिलाध्यक्षों के साथ एक मीटिंग की। कहा जाता है कि केसीआर ने उनके साथ राष्ट्रीय पार्टी के शुभारंभ के रोडमैप पर चर्चा की थी।

केसीआर ने दोपहर 1:19 बजे लॉन्च की अपनी नई राष्ट्रीय पार्टी, इस समय के पीछे छुपा है कौन सा राज?
Himanshu Jhaलाइव हिन्दुस्तान,हैदराबाद।Wed, 05 Oct 2022 01:54 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

तेलंगाना के मुख्यमंत्री और तेलंगाना राष्ट्र समिति के अध्यक्ष के चंद्रशेखर राव ने अपनी नई पार्टी को आज लॉन्च कर दिया। केसीआर का कहना है कि टीआरएस का उद्देश्य अलग तेलंगाना राज्य के गठन और इसे विभिन्न विकास और कल्याण कार्यक्रमों में देश में नंबर 1 राज्य बनाने के साथ हासिल किया गया था। आपको बता दें कि इस मौके पर पार्टी कार्यकर्ताओं ने पटाखे फोड़े और 'देश के नेता केसीआर' के नारे लगाए।

केसीआर ने अपनी नई पार्टी का नाम भारत राष्ट्र समिति रखा है। तेलंगाना भवन में दोपहर 1.19 बजे हुई पार्टी की आम सभा की बैठक में सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित हुआ। पंडितों ने उन्हें इसी शुभ मुहूर्त की सलाह दी थी।

आज सुबह भी उन्होंने महासभा की बैठक की। इस बैठक में जनता दल (सेक्युलर) के नेता और कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने भी भाग लिया था। रविवार को मुख्यमंत्री केसीआर ने अपने कैबिनेट सहयोगियों और पार्टी के सभी 33 जिलाध्यक्षों के साथ एक मीटिंग की। कहा जाता है कि केसीआर ने उनके साथ राष्ट्रीय पार्टी के शुभारंभ के रोडमैप पर चर्चा की थी।

पटना में की थी लालू-नीतीश से मुलाकात
केसीआर इन दिनों खुद को मिशन 2024 के लिए झोंक दिया है। हाल के महीनों में उन्होंने खुद को एक राष्ट्रीय खिलाड़ी के रूप में स्थापित करने और भाजपा विरोधी नेताओं से मिलने के लिए कई राज्यों का दौरा किया। हाल ही में उन्होंने बिहार की राजधानी पटना में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राष्ट्रीय जनता दल (RJD) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव से मुलाकात की थी और 2024 की तैयारियों को लेकर बात की थी।

बीजेपी और कांग्रेस दोनों के ही खिलाफ केसीआर
आपको बता दें कि केसीआर 2018 से ही राष्ट्रीय राजनीति में उतरने की महत्वाकांक्षाओं अपने मन में दबाए बैठे थे। उन्होंने कई मौकों पर कहा है कि भाजपा और कांग्रेस दोनों देश को विफल कर चुके हैं। केसीआर ने कई मौकों पर अपनी राष्ट्रीय पार्टी के गठन की बात कही थी।

भाजपा हमलावर
भाजपा तेलंगाना के प्रवक्ता एनवी सुभाष ने कहा कि राष्ट्रीय राजनीति में प्रवेश केसीआर द्वारा उनकी सरकार की विफलताओं को दूर करने की एक रणनीति है। उन्होंने कहा, "नई पार्टी के लिए 100 करोड़ रुपये का 12 सीटों वाला विमान खरीदा गया था। यह इस बात का एक प्रसिद्ध उदाहरण है कि कैसे जनता का पैसा चुराया गया है। इसे भाजपा बर्दाश्त नहीं करेगी।"

केसीआर की नई राष्ट्रीय पार्टी मुनुगोड़े उपचुनाव लड़ सकती है। इसके अलावा गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक और दिल्ली में विधानसभा चुनाव लड़ने की संभावना है।

केसीआर की राष्ट्रीय योजनाओं का मजाक उड़ाते हुए पर्यटन मंत्री जी किशन रेड्डी ने कहा, "पार्टियों के आने और लुप्त होने में कुछ भी नया नहीं है। केसीआर ने एक बार कहा था कि सर्वनाश आने वाला है।"

हैदराबाद में बैठक के बाद केसीआर द्वारा अपनी पार्टी के एजेंडे का खुलासा करने की भी उम्मीद है। संसद और विधानसभा के निर्वाचित सदस्य, विधान परिषद के सदस्य, जिला परिषद अध्यक्ष, महापौर और नगरपालिका अध्यक्ष के भाग लेने की उम्मीद है।

पार्टी कार के अपने चुनाव चिन्ह और अपने गुलाबी रंग को बरकरार रखना चाहती है।

केसीआर ने पार्टी नेताओं से कहा है कि उन्हें पार्टी के राजनीतिक प्रभाव को बढ़ाने के लिए पिछले आठ वर्षों में तेलंगाना में "बेहद सफल" कल्याण योजनाओं के बारे में बात करने के लिए विभिन्न राज्यों का दौरा करना चाहिए।

epaper