DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

LIVE: मुंबई पुलिस ने कांग्रेस नेता शिवकुमार को हिरासत में लिया, इलाके में लगाई धारा 144

                                                                                                                               144

1 / 2मुंबई पुलिस ने शिवकुमार को हिरासत में लिया, धारा 144 लागू

live

2 / 2LIVE: कांग्रेस के बागी विधायक बोले, शिवकुमार से नहीं करना चाहते बातचीत

PreviousNext

  कर्नाटक विधानसभा से इस्तीफा देने के बाद चार दिन पहले मुंबई आए एक दर्जन विधायक अब भी यहीं डेरा डाले हुए हैं। बुधवार को कर्नाटक सरकार में मंत्री डीके शिवकुमार और जेडीएस के विधायक शिवलिंग गौड़ा मुंबई बागी विधायको से मिलने पहुंचे लेकिन वहां तैनात सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें मिलने नहीं दिया। आपको बता दें कि कांग्रेस और जेडीएस के 10 बागी विधायक जिस होटल में ठहरे हैं वहां महाराष्ट्र राज्य रिजर्व पुलिस बल और दंगा नियंत्रण पुलिस को तैनात किया गया है। 

कर्नाटक संकट पर Live Updates

- बेंगलुरु में राजभवन के बाहर से कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद को पुलिस ने हिरासत में लिया

- मुंबई पुलिस ने कर्नाटक के मंत्री डीके शिवकुमार को हिरासत में लिया। इलाके में धारा 144 लागू की।

- जेडीएस प्रमुख और पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा बेंगलुरु में कांग्रेस के विरोध प्रदर्शन वाली जगह पहुंचे। उन्होंने गुलाम नबी आजाद से मुलाकात की। सिद्धरमैया और केसी वेणुगोपाल भी मौजूद हैं।

- कांग्रेस के बागी विधायक रमेश ने कहा कि शिवकुमार से नहीं करना चाहते बातचीत। यहां BJP से मिलने के लिए कोई  नेता नहीं है।

कर्नाटक: कांग्रेस और जेडीएस के बागी विधायक सुप्रीम कोर्ट पहुंचे, स्पीकर पर संवैधानिक कर्तव्य को छोड़ने और जानबूझकर इस्तीफे की स्वीकृति में देरी का लगाया आरोप।

- बेंगलुरु में भाजपा नेता बीएस येदियुरप्पा कर्नाटक विधानसभा के बाहर धरने पर बैठने का फैसला किया है। वह स्पीकर और गवर्नर से भी मिलेंगे।

- पुलिस ने कर्नाटक के मंत्री डीके शिवकुमार को होटल के गेट से दूर लेकर गई। जहां कांग्रेस-जेडीएस के 10 बागी विधायक ठहरे हुए हैं। विधायकों ने पुलिस को कहा है कि हमने सुना है कि सीएम और डीके शिवकुमार होटल में जा रहे हैं, हमें खतरा है।

- डीके शिवकुमार ने कहा कि मैंने होटल में एक कमरा बुक किया है। मेरे दोस्त यहां रह रहे हैं। यह एक छोटी सी समस्या है, हमें बातचीत करनी है। हम तुरंत तलाक के लिए नहीं जा सकते। धमकी देने का कोई सवाल नहीं है, हम एक दूसरे से प्यार करते हैं और उनका सम्मान करते हैं।

- जेडीएस नेता नारायण गौड़ा के समर्थकों ने "गो बैक, गो बैक" के नारे लगाए क्योंकि कर्नाटक के मंत्री डीके शिवकुमार के शीघ्र ही होटल आने वाले थे।

- मुंबई पुलिस ने कर्नाटक सरकार में मंत्री शिवकुमार को होटल के बाहर रोका। वह कांग्रेस-जेडीएस के 10 बागी विधायकों से मिलने गए थे।
 

 

- कर्नाटक के मंत्री डीके शिवकुमार ने कहा कि मुंबई पुलिस या किसी अन्य बल को तैनात किया जाए लेकिन उन्हें अपना काम करने दें। हम अपने दोस्तों से मिलने आए हैं। हम राजनीति में एक साथ आए और हम राजनीति में एक साथ मरेंगे। वे हमारी पार्टी के आदमी हैं। हम उनसे मिलने आए हैं।

- स्पीकर बोले, 13 में 8 विधायकों के इस्तीफे कानूनन सही नहीं

कर्नाटक में कांग्रेस और जेडीएस के 13 विधायकों के इस्तीफे पर विधानसभा स्पीकर केआर रमेश कुमार ने मंगलवार को बड़ा बयान दिया। उन्होंने राज्यपाल वजुभाई वाला को खत लिखकर बताया कि कोई बागी विधायक उनसे नहीं मिला है। 13 में 8 विधायकों के इस्तीफे कानून के मुताबिक नहीं हैं। मैंने इन विधायकों को पेश होने का समय दिया है। स्पीकर के इस कदम से कर्नाटक का संकट गहरा गया है। स्पीकर ने कहा, किसी भी बागी विधायकों ने मुझसे मुलाकात नहीं की। मैंने राज्यपाल को भरोसा दिलाया है कि मैं संविधान और कानून के तहत काम करूंगा। विधायकों को मिलने का वक्त दे दिया गया है। राज्य की मौजूदा राजनीतिक स्थिति से मेरा कोई संबंध नहीं है।

- कांग्रेस के निलंबित विधायक रोशन बेग ने दिया इस्तीफा
राज्य की गठबंधन सरकार को मंगलवार को एक और झटका लगा। कांग्रेस के निलंबित विधायक आर रोशन बेग ने विधानसभा से इस्तीफा दे दिया। बेग ने विधानसभा के अध्यक्ष केआर रमेश कुमार के कार्यालय से बाहर निकलते हुए कहा, वह दिल्ली या मुंबई नहीं जाएंगे। अभी तक 14 विधायक अपना इस्तीफा दे चुके हैं जिनमें से कांग्रेस के 11 विधायक और जेडीएस के तीन विधायक हैं।

- बैठक से कांग्रेस के 21 विधायक गायब 
कांग्रेस विधायक दल की मंगलवार को हुई बैठक में 21 विधायकों के शामिल न होने से अटकलें तेज हो गई हैं। कांग्रेस नेता एमटीबी नागराज तबीयत खराब होने के कारण विधायक दल की बैठक में शामिल नहीं हुए। उनके अलावा कांग्रेस के 78 में से 20 विधायक बैठक में नहीं पहुंचे। 

- सदस्यता रद्द हो: सिद्धरमैया
कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने भाजपा पर विधायकों को पैसे मंत्रिपद का लालच देने का आरोप लगाया है। उन्होंने दावा किया है कि विधायकों का इस्तीफा वास्तविक और उनकी मर्जी से नहीं दिया गया है, इसलिए उनके खिलाफ एंटी-डिफेक्शन कानून का इस्तेमाल होना चाहिए। उनकी सदस्यता रद्द की जानी चाहिए। उन्होंने मांग की कि इन विधायकों को अगले 6 साल तक चुनाव लड़ने की इजाजत नहीं दी जानी चाहिए।

- भाजपा सरकार बनाने को तैयार
भाजपा सरकार बनाने के लिए आंकड़ों पर नजर रखे हुए है। पार्टी नेता शोभा करांदलजे ने कहा है कि अब भाजपा विधायकों की संख्या कांग्रेस-जेडीएस विधायकों से ज्यादा है। हम करीब 107 हैं और वे 103 पर आ गए हैं। मुझे लगता है कि राज्यपाल सरकार बनाने के लिए भाजपा को बुलाने का फैसला कर सकते हैं। केंद्रीय मंत्री डीवी सदानंद गौड़ा पहले ही कह चुके हैं कि अगर कांग्रेस-जेडीएस के विधायकों की संख्या 105 से नीचे जाती है तो भाजपा निश्चित रूप से कर्नाटक में सरकार बनाएगी।

  

  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:karnataka political crisis live updates: Congress JDS and BJP