DA Image
10 मई, 2021|11:21|IST

अगली स्टोरी

मुलाकात के बाद बोले कुमारस्वामी: शपथ ग्रहण में शामिल होंगे राहुल-सोनिया

कुमारस्वामी बुधवार को सीएम पद की शपथ लेंगे। (ANI)

कर्नाटक में बुधवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने जा रहे जदएस नेता एचडी कुमारस्वामी ने सोमवार को कांग्रेस की वरिष्ठ नेता सोनिया गांधी और अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की और उनको शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने का न्यौता दिया। मुलाकात के बाद कुमारस्वामी ने कहा कि सोनिया और राहुल ने न्यौता स्वीकार कर लिया है। उन्होंने कहा कि उनके दोनों दलों के कई विधायक बतौर मंत्री शपथ लेंगे, हालांकि उन्होंने यह स्पष्ट नहीं किया कि उप मुख्यमंत्री को लेकर उनकी कांग्रेस के शीर्ष नेताओं से उनकी क्या बातचीत हुई। 

जेडीएस नेता ने यह कहा कि मंगलवार को बेंगलुरू में दोनों दलों के नेताओं की एक बैठक होगी जिसमें दूसरे मुददों पर फैसला होगा। सोनिया और राहुल के साथ उनकी मुलाकात करीब आधे घण्टे तक चली। मुलाकात के दौरान जेडीएस के दानिश अली और कांग्रेस के केसी वेनुगोपाल भी मौजूद थे। कुमारस्वामी शाम करीब पांच बजे दिल्ली पहुंचे हैं। दिल्ली पहुंचने के बाद उन्होंने बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती से भी मुलाकात की।

दिल्ली निकलने से पहले कुमारस्वामी ने मीडिया से बात करते हुए कहा था, 'मैं नई दिल्ली जा रहा हूं, मैं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी की वरिष्ठ नेता सोनिया गांधी से मुलाकात करूंगा। उनके साथ चर्चा के निष्कर्ष के आधार पर इस पर निर्णय किया जाएगा कि कांग्रेस और जेडीएस विधायकों में से कितने मंत्री बनेंगे।'

सोनिया-राहुल से मुलाकात से पहले बोले कुमारस्वामी- नहीं अपनाएंगे 'रोटेशनल CM' फॉर्मूला

बी एस येदियुरप्पा ने शनिवार को विधानसभा में शक्तिपरीक्षण का सामना किये बिना ही मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ दे दिया था क्योंकि भाजपा जरूरी बहुमत नहीं जुटा पाई। इसके बाद कुमारस्वामी ने राज्यपाल वजुभाई वाला से मुलाकात के बाद कहा कि उन्हें सरकार बनाने के लिए न्यौता मिला है।

जेडीएस के साथ मिलकर कांग्रेस कर्नाटक में सरकार बना रही है। कुमारस्वामी 25 मई को कर्नाटक के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे। कर्नाटक में सरकार को लेकर मीडिया में काफी रिपोर्ट्स चल रही हैं। कुछ रिपोर्ट्स आई थीं कि कर्नाटक में जेडीएस और कांग्रेस में 'रोटेशनल सीएम' फॉर्मूला के आधार पर सरकार बनेगी। हालांकि, कुमारस्वामी ने इस खबरों को रविवार को खंडन कर दिया था।

अगर सरकार बनाने का दावा पेश नहीं करते तो जनादेश के खिलाफ होता-अमित शाह

12 मई को विधानसभा चुनाव के बाद 15 मई को आये नतीजे में भाजपा 104 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी लेकिन यह संख्या बहुमत से कम थी। कुमारस्वामी ने स्पष्ट किया कि विभागों के आवंटन पर अभी तक कोई चर्चा नहीं हुई है। उन्होंने मीडिया से अनुरोध किया कि वह ऐसी अटकलबाजी वाली खबरें चलाकर जनता और विधायकों के बीच भ्रम उत्पन्न नहीं करे। उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि शपथग्रहण के 24 घंटे के भीतर वह सदन के भीतर बहुमत साबित कर देंगे।

कर्नाटकः ये हैं भाजपा की 5 बड़ी चूक, जिसने छीन ली कर्नाटक की सत्ता

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Karnataka: JDS Leader HD Kumaraswamy meeting with congress sonia and rahul gandhi