ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशबीमार सास पोता-पोती देखना चाहती हैं, जज साहब ने बच्चा पैदा करने को हत्या के दोषी को दे दी पैरोल

बीमार सास पोता-पोती देखना चाहती हैं, जज साहब ने बच्चा पैदा करने को हत्या के दोषी को दे दी पैरोल

पत्नी ने कर्नाटक हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की थी, जिसमें उन्होंने बच्चे को जन्म देने की इच्छा जाहिर की थी। कोर्ट ने 30 दिन की पैरोल पर मुहर लगाई है। 5 जून से लेकर 4 जुलाई 2024 तक पैरोल दी है।

बीमार सास पोता-पोती देखना चाहती हैं, जज साहब ने बच्चा पैदा करने को हत्या के दोषी को दे दी पैरोल
delhi high court
Nisarg Dixitलाइव हिन्दुस्तान,बेंगलुरुFri, 07 Jun 2024 12:06 PM
ऐप पर पढ़ें

Husband-Wife Relations: हत्या के मामले में सजा काट रहे एक दोषी को हाल ही में कर्नाटक उच्च न्यायालय ने पैरोल देने का फैसला किया है। दरअसल, हाईकोर्ट ने यह राहत दोषी की पत्नी की याचिका पर दी है, जो बच्चा पैदा करना चाहती थी। याचिका पर सुनवाई जस्टिस एस आर कृष्ण कर रहे थे। साल 2019 में ट्रायल कोर्ट ने आरोपी को उम्रकैद की सजा सुनाई थी।

पत्नी ने कर्नाटक हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की थी, जिसमें उन्होंने बच्चे को जन्म देने की इच्छा जाहिर की थी। कोर्ट ने 30 दिन की पैरोल पर मुहर लगाई है। बार एंड बेंच की रिपोर्ट के मुताबिक, अदालत ने कहा, '(दोषी की) पत्नी सिर्फ आधार पर पैरोल चाहती है कि दोनों की शादी 11.3.2023 (पहली पैरोल के दौरान) को हुई थी और वह बच्चे के अधिकार से वंचित है।'

उन्होंने आगे कहा, 'ऐसे में मैं पति को 30 दिनों की अवधि की सामान्य पैरोल देना उचित समझता हूं।' जस्टिस कुमार ने कोलार के आनंद को 5 जून से लेकर 4 जुलाई 2024 तक पैरोल की मंजूरी दी है। उसे ट्रायल कोर्ट की तरफ से उम्रकैद मिली थी, लेकिन 2023 में हाईकोर्ट ने सजा को घटाकर 10 साल कर दिया था। उसने बीते साल अप्रैल में कोर्ट से पैरोल मिलने के बाद शादी की थी।

याचिका में क्या
रिट याचिका में दोषी की पत्नी ने बताया है कि पति के जेल में होने के कारण वह संतान के अधिकार से वंचित है। उन्होंने कोर्ट को बताया कि वह अपनी सास के साथ अकेले रहती हैं, जो बीमार हैं और अपने पोते-पोतियों के साथ समय बिताना चाहती हैं। इनपर विचार कर अदालत ने दोषी को पैरोल दे दी। हालांकि, यह शर्त भी शामिल है कि वह सप्ताह में एक बार पुलिस के सामने हाजिरी देगा।