DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कर्नाटक का नाटक: कुमारस्वामी की गिरी सरकार, विश्वासमत में नहीं जुटा पाए जरूरी आंकड़ा; पक्ष में पड़े सिर्फ 99 वोट

former chief minister of karnataka and bjp leader bs yeddyurappa shows victory sign along with other

1 / 3Former Chief Minister of Karnataka and BJP leader BS Yeddyurappa shows victory sign along with other members after the defeat of Congress-JD(S) coalition government at Vidhana Soudha in Bengaluru on Tuesday. (ANI Photo)

karnataka trust voting

2 / 3karnataka trust voting

hd kumarswamy in vidhan southa during trust vote  file pic

3 / 3HD Kumarswamy in Vidhan Southa during Trust Vote (File Pic)

PreviousNext

कर्नाटक की 14 महीने पुरानी एचडी कुमारस्वामी के नेृतत्व वाली कांग्रेस-जेडीएस सरकार मंगलवार को विश्वासमत के बाद गिर गई। वोटिंग में कुमारस्वामी सरकार के पक्ष में 99 जबकि विरोध में 105 वोट पड़े। कुमारस्वामी ने राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया है।
 

कुमारस्वामी सरकार का गठन 23 मई 2018 को हुआ था। कर्नाटक विधानसभा में सदस्यों की कुल संख्या 224 है। इनमें से सिर्फ 204 विधायक ही वोटिंग के समय मौजूद रहे। बागी 19 सदस्य कुमारस्वामी के आग्रह के बावजूद सदन से अनुपस्थित रहे।
 

इससे पूर्व, कर्नाटक विधानसभा में बहुमत को लेकर चली बहस के दौरान कुमारस्वामी ने कहा कि उन्होंने सरकार बचाने के लिए काफी जद्दोजहद की थी। विधानसभा अध्यक्ष केआर रमेश कुमार ने गठबंधन सरकार को मंगलवार शाम छह बजे तक बहुमत साबित करने की मोहलत दी थी। 

येदियुरप्पा को मिलेगा न्योता :
विश्वासमत में विफल होने के बाद कुमारस्वामी ने राज्यपाल वजुभाई वाला को इस्तीफा सौंप दिया है। राज्यपाल वजुभाई वाला भाजपा के नेता बीएस येदियुरप्पा को सरकार गठन का निमंत्रण दे सकते हैं। 

सदन में विधायकों को खड़ा कर गिना : 
विधानसभा अध्यक्ष रमेश कुमार ने विधायकों को अपनी सीट के पास खड़ा कर गिनती करवाई। अधिकारियों ने पहले सत्ता पक्ष के सदस्यों की गिनती की और फिर विपक्षी विधायकों को गिना गया। गौरतलब है कि 15 बागी विधायकों के इस्तीफे के बाद भी कांग्रेस और जेडीएस सरकार को बचाने के लिए पूरा जोर लगा रहे थे। कई दिनों से दोनों दल विश्वास मत प्रस्ताव को टालने की कोशिश में लगे हुए थे। 

 

किस्मत मुझे यहां ले आई : कुमारस्वामी 
सरकार गिरने से पहले कुमारस्वामी ने भावुक भाषण देते हुए कहा कि मुझे पद का कोई लालच नहीं है। मैं राजनीति में नहीं आना चाहता था, लेकिन किस्मत मुझे यहां ले आई। उनके इस संबोधन को विदाई भाषण माना गया। उन्होंने कहा, ‘मैं बेहद भावुक व्यक्ति हूं। मैंने जब अपने खिलाफ रिपोर्ट्स देखीं तो सोचा कि क्या मुझे इस सब के बाद भी मुख्यमंत्री पद पर बने रहना चाहिए। 

ये भी पढ़ें: कुमारस्वामी का सोशल मीडिया पर फूटा गुस्सा, कहा- समाज को कर रहा बर्बाद

Live Updates:

11:00PM- कर्नाटक बीजेपी विधायक दलों की बेंगलुरू के रामदा होटल में चल रही है बैठक

09: 40PM-कर्नाटक विधानसभा में विश्वासमत के दौरान सदन से बीएसपी विधायक के गैर हाजिर रहने पर बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने तत्काल प्रभाव से उसे पार्टी से निष्कासित किया।

8:40PM- कुमारस्वामी की अगुवाई वाली कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन के विधानसभा में बहुमत साबित करने में नाकाम रहने के बाद एचडी कुमारस्वामी बेंगलुरू स्थित राजभवन में राज्यपाल वजुभाई वाला से मिलने पहुंचे।

7:40PM- एचडी कुमारस्वामी की सरकार गिर गई। वे सदन में जरुरी आंकड़े नहीं जुटा पाए। उनके पक्ष में विश्वासमत के दौरान सिर्फ 99 वोट पड़़े जबकि विपक्ष में 105 वोट पड़े। 

-मायावती के निर्देश के बावजूद बहुजन समाज पार्टी के विधायक भी नहीं पहुंचे। निर्दलीय विधायकों ने भी विश्वासमत के दौरान हिस्सा नहीं लिया।

-रामलिंगा रेड्डी, जिन्होंने पिछले हफ्ते अपना इस्तीफा वापस लिया था. उन्होंने सरकार के पक्ष में वोट किया।

7:35- कर्नाटक विधानसभा में विश्वास मत लिए चल रही वोटिंग खत्म हो गई। अब जल्द ही परिणाम की घोषणा की जाएगी।

7:27 स्पीकर आप सभी सम्‍मानित वोटिंग काउंटिंग के लिए अपनी सीट पर बैठें, (क्योंकि यहां इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग नहीं हो रही।)

7:26 -सरकार के पक्ष में बहुमत नहीं-भाजपा
स्पीकर : क्या आप इस्तीफा दे चुके विधायकों को दोबारा लेंगे?

कुमारस्वामी : नहीं कोई गुंजाइस नहीं, हमने तय किया है कि उन्हें कभी वापस नहीं लिया जाएगा।

सिद्धारमैया : राज्य में हम बाढ़ आने देंगे लेकिन उन्हें वापस नहीं लेंगे।

-विधानसौदा में विश्वासमत पर वोटिंग शुरु हो चुकी है। उधर, भारतीय जनता पार्टी ने कहा कि कुमारस्वामी सरकार के गिरने के खतरा है क्योंकि उसके पास जरूरी बहुमत का आंकड़ा नहीं है।

 

-बेंगलुरू के पुलिस कमिश्नर आलोक कुमार ने कहा- आज और कल हम शहर में धारा 144 लागू करने जा रहे हैं। सभी पब और शराब की दुकानें 25 तक बंद रहेंगी। अगर कोई इस नियम का उल्लंघन करते हुए पाया जाता है तो उन्हें सजा दी जाएगी।

-कुमारस्वामी ने कहा कि मैं काफी संवेदनशील और भावनात्मक व्यक्ति हूं। जब मैनें अपने खिलाफ रिपोर्ट देखी तो मैं इस सोच में पड़ गया कि क्या मुझे मुख्यमंत्री होना चाहिए। मेरी भावना आहत हूं और खुशी-खुशी मैं पद छोड़ दूंगा।

-कुमारस्वामी ने ऋण माफी पर लोगों का ध्यान खींचते हुए कहा- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लोकसभा चुनावों के दौरान यह कहा था कि ऋण माफी विफल योजना थी। इस योजना के लिए दो बजट में हमने 25 हजार करोड़ रुपये दिए। कांग्रेस नेता सिद्धारमैया की तरफ से 2018 के फरवरी बजट में जो भी घोषणा की गई थी, हमने किसी में कोई कटौती नहीं की।

ये भी पढ़ें: Karnataka Crisis: अयोग्य करार दिए जांएगे बागी विधायक और उनकी राजनीतिक समाधि बनेगी- सिद्धारमैया

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Karnataka Floor test live updates trust votes in Vidhan Soudha