DA Image
31 अक्तूबर, 2020|6:44|IST

अगली स्टोरी

मध्य प्रदेश उपचुनाव: कमलनाथ के बयान पर भड़के ज्योतिरादित्य सिंधिया, बोले- हां मैं कुत्ता हूं

bjp rajya sabha mp jyotiraditya scindia  file pic

मध्य प्रदेश की 28 विधानसभा सीटों के लिए 3 नवंबर को होने जा रहे उपचुनाव में नेताओं के बीच जुबानी जंग और तेज होती जा रही है और बयानों का स्तर लगातार गिरता जा रहा है। चुनाव आयोग की कार्रवाई के बीच यह बदजुबानी जारी है। शनिवार को बीजेपी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सीनियर कांग्रेस नेता और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर कुत्ता कहने का आरोप लगाया और कहा कि हां वह कुत्ता हैं, जो हमेशा अपने मालिकों के लिए वफादार रहता है।

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा- “कमलनाथ जी ने मुझे कुत्ता कहा। हां, मैं कुत्ता हूं क्योंकि मेरा मालिक मेरी जनता है और मैं उसकी सेवा करता हूं...। हां, कमलनाथ जी मैं कुत्ता हूं क्योंकि कुत्ता अपने मालिक और अपने दाता की रक्षा करता है। हां, कमलनाथ जी मैं कुत्ता हूं क्योंकि अगर कोई भी व्यक्ति मेरे मालिक को ऊंगली दिखाए और मालिक के साथ भ्रष्टाचार और विनाशकारी नीति दिखाए तो कुत्ता काटेगा उसे।”

ये भी पढ़ें: कैंपेन खत्म होने से 2 दिन पहले क्यों हुई कार्रवाई?कमलनाथ का EC से सवाल

गौरतलब है कि कमनलाथ ने एक चुनावी रैली के दौरान शिवराज सरकार में महिला विकास मंत्री पद पर तैनात इमरती देवी को 'आइटम' कह दिया था। इसके बाद सियासी बवाल पैदा हो गया और चुनाव आयोग ने कमलनाथ पर कार्रवाई करते हुए शुक्रवार को उनका स्टार प्रचारक का दर्जा रद्द कर दिया।

हालांकि, चुनाव आयोग की कार्रवाई के बाद कमलनाथ सवाल किया कि आखिर चुनाव प्रचार के आखिरी दो दिनों से पहले उनके ऊपर इस तरह की कार्रवाई क्यों की गई। इसके साथ ही उन्होंने चुनाव आयोग के इस कदम के खिलाफ कोर्ट से गुहार लगाई है।

इससे पहले, कांग्रेस से राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने कहा कि चुनाव आयोग की कार्रवाई अलोकतांत्रिक है। उन्होंने कहा, ''आयोग ने बिना नोटिस दिए कमलनाथ को स्टार प्रचारक की सूची से अलग कर दिया। अब हमारी लड़ाई लोकतंत्र की रक्षा के लिए है।'' 

ये भी पढ़ें: कमलनाथ पर चुनाव आयोग का एक्शन, स्टार प्रचारकों की सूची से किया बाहर

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Jyotiraditya Scindia enraged at Kamal Nath statement says yes I am a dog who serve owner