Justice Rao separates him from Rajeev Kumar case next hearing on 27th February - कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार केस से जस्टिस राव अलग, 27 फरवरी को अगली सुनवाई DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार केस से जस्टिस राव अलग, 27 फरवरी को अगली सुनवाई

कोलकाता पुलिस आयुक्त राजीव कुमार (PTI/File Photo)

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के न्यायाधीश एल नागेश्वर राव (L Nageshwar Rao) ने कोलकाता पुलिस आयुक्त राजीव कुमार (Kolkata Police Commissioner Rajeev Kumar) के खिलाफ दायर अदालत की अवमानना मामले की सुनवाई से बुधवार को खुद को अलग कर लिया।

संबंधित मामला मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति राव और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना के समक्ष सूचीबद्ध था, लेकिन न्यायमूर्ति राव ने सुनवाई से खुद को अलग कर लिया। न्यायमूर्ति राव ने कहा कि वह एक मामले में राज्य सरकार की ओर से वकील के तौर पर पेश हुए थे, इसलिए वह इस मामले की सुनवाई से खुद को अलग करते हैं। 

पढ़ें: कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार का सीबीआई को सहयोग से इनकार

भाषा के अनुसार, इसके बाद न्यायमूर्ति गोगोई ने कहा कि मामले की सुनवाई के लिए अब एक नयी बेंच गठित होगी जिसमें न्यायमूर्ति राव नहीं होंगे। इसके साथ ही न्यायालय ने अगली सुनवाई के लिए 27 फरवरी की तारीख मुकर्रर की। 

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने शारदा चिटफंड प्रकरण से संबंधित अवमानना मामले में पश्चिम बंगाल के तीन बड़े अधिकारियों को व्यक्तिगत रूप से अदालत में पेश होने के बारे में मंगलवार को कोई आदेश पारित नहीं किया था। 

पढ़ें: CBIvsKolkata Police: कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार की मां बोलीं- मेरा बेटा कुछ गलत नहीं करेगा

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति एल. नागेश्वर राव और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना की पीठ ने को कहा कि इस मामले पर बुधवार को सुनवाई की जाएगी। मामले में पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव, पुलिस महानिदेशक और कोलकाता के पुलिस आयुक्त को पेश होना है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Justice Rao separates him from Rajeev Kumar case next hearing on 27th February