अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

JNU Election 2018: 68 फीसदी हुआ मतदान, नतीजे 16 को किए जाएंगे घोषित

JNU election 2018

1 / 3

jnu polls

2 / 3jnu polls

JNU Election 2018

3 / 3JNU Election 2018

PreviousNext

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ (जेएनयूएसयू) चुनाव के चार शुक्रवार को चार अहम पदों के लिए मतदान सम्पन्न हो गया। अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, सचिव और संयुक्त सचिव पदों के लिए हुए चुनाव में 68 फीसदी युवाओं ने वोट डाले। अपने मताधिकार का इस्तेमाल करने के लिए छात्र सुबह से ही कतारों में खड़े दिखाई दिए।

छात्र संघ चुनाव के लिए मतदान हुआ। सुबह 9:30 बजे से शुरू हुआ मतदान शाम 5:30 बजे तक जारी रहा। इस दौरान करीब 68 फीसदी छात्रों ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। चुनाव के नतीजे 16 सितंबर को घोषित किए जाएंगे।

चुनाव अधिकारियों ने जेएनयू छात्र संघ चुनाव के लिए तमाम इंतजाम किए थे। हाल में विश्वविद्यालय में हुए कई विवादों के बाद इन चुनावों पर कड़ी निगरानी बरती गई। इन विवादों ने देश भर के अन्य विश्वविद्यालयों को भी प्रभावित किया। 

इस बार जेएनयू छात्रसंघ चुनाव में आठ उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला होगा जिनकी नजर राजनीतिक रूप से सक्रिय इस कैंपस में शीर्ष पद पर है। हाल में देशभर के विश्वविद्यालयों में हुए विभिन्न विवादों के बाद इस चुनाव पर लोगों की नजरें लगी हुई हैं।

संयुक्त वाम गठबंधन
वाम समर्थित आल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (आइसा), स्टूडेंट्स फेडरेशन आफ इंडिया (एसएफआई), डेमोक्रेटिक स्टूडेंट्स फेडरेशन (डीएसएफ) और ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन (एआईएसएफ) ने साथ मिलकर संयुक्त वाम गठबंधन बनाया है। गठबंधन ने स्कूल आफ इंटरनेशनल स्टडीज के एन. एस. बालाजी को अध्यक्ष पद के लिए अपना उम्मीदवार बनाया है।

अध्यक्षः एन.साई बलाजी
उपाध्यक्षः सारिका चौधरी
महासचिवः एजाज अहमद राथर    
संयुक्त सचिवः अमुथा जयदीप

एबीवीपी 
अध्यक्षः ललित पांडे
उपाध्यक्षः गीताश्री बरूआ
महासचिवः गणेश गुजर
संयुक्त सचिवः वेंकेट चैबे

बापसा
अध्यक्षः थल्लापलि प्रवीण
उपाध्यक्षः पूर्णचंद्रा नाइक
महासिचवः विश्वंभर नाथ प्रजापति
संयुक्त सचिवः कनकलता यादव    

एनएसयूआई
अध्यक्षः विकास यादव
उपाध्यक्षः लिजीके बाबू 
महासिचवः एमडी मोफिजुल आलम
संयुक्त सचिवः नागरंग मीरा

स्वर्ण छात्र मोर्चा
अध्यक्षः निधि मिश्रा

निर्दलीय
अध्यक्षः जाहु कुमार हीर और साइब बिल्लावल 

DUSU election 2018 results: अध्यक्ष सहित तीन पदों पर ABVP की जीत
         
उम्मीदवारों ने प्रेजीडेंशियल डिबेट में दिखाया दमखम
जेएनयू छात्र संघ (जेएनयूएसयू) चुनाव के मद्देनजर जोश से ओतप्रोत प्रेजिडेंशियल डिबेट में उम्मीदवारों ने आरोप लगाया कि कैम्पस में ''राष्ट्र विरोधी तत्व मौजूद हैं और देश ''लिंचिस्तान में तब्दील हो रहा है।

अपने भाषण में संयुक्त वाम पैनल के उम्मीदवार और इस दौड़ में सबसे आगे एन साई बालाजी ने कहा, ''भीड़ को लोगों को मारने और चले जाने की अनुमति दी गई और उनके पास आरएसएस, केंद्र सरकार तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का समर्थन है। देश लिंचिस्तान में तब्दील हो रहा है।

बालाजी ने बुधवार रात को कहा, ''नोटबंदी नाकाम हो गई, वादे के मुताबिक नौकरियां नहीं है और उच्च शिक्षा पर लगातार हमला हो रहा है।

भाजपा की छात्र ईकाई एबीवीपी के उम्मीदवार ललित पांडे ने आरोप लगाया कि कैम्पस में ''राष्ट्र विरोधी तत्व हैं और उन्होंने वादा कि अगर वह चुनाव जीते तो उन्हें ''ठिकाने लगा देंगे।

राष्ट्रीय जनता दल की छात्र ईकाई ने इस साल पहली बार जेएनयूएसयू चुनाव में अपना उम्मीदवार उतारा है। उसके उम्मीदवार जयंत कुमार ने कांग्रेस के छात्र संगठन एनएसयूआई के प्रत्याशी विकास यादव की तरह उच्च शिक्षा के लिए फंडिंग कम करने, जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में सीटों की संख्या कम करने तथा उसकी आरक्षण नीति में छेड़छाड़ करने को लेकर केंद्र पर निशाना साधा।

बिरसा अंबेडकर फुले छात्र संघ के अध्यक्ष पद के प्रत्याशी थल्लापेल्ली प्रवीन ने कहा कि उनकी पार्टी कैम्पस के शोषित वर्गों के छात्रों की आवाज का प्रतिनिधित्व करती है। प्रवीन ने छात्रों से वाम और दक्षिण पंथ से इतर सोचने के लिए कहा।

नियमित प्रचार के अलावा जेएनयूएसयू चुनावों में उम्मीदवार प्रेजीडेंशियल डिबेट में अपने एजेंडे के बारे में भाषण देते है जो सवाल-जवाब के एक चरण के बाद होता है।
         
यह कार्यक्रम अमेरिका की प्रेजीडेंशियल डिबेट की तर्ज पर आयोजित किया जाता है और छात्र संघ के चुनाव में यह डिबेट निर्णायक साबित होती है।

(इनपुट भाषा से)

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:JNU Student Union President Election Today Live Updates Eight candidates are in the fray for the presidential post