ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशसंसद में महंगा बैग छिपाते महुआ मोइत्रा का वीडियो, बोलीं- झोला लेकर आए थे, झोला लेकर जाएंगे

संसद में महंगा बैग छिपाते महुआ मोइत्रा का वीडियो, बोलीं- झोला लेकर आए थे, झोला लेकर जाएंगे

महुआ मोइत्रा ने भाजपा के शहजाद पूनावाला के सोशल मीडिया पर शेयर किए एक वीडियो पर कटाक्ष किया है। कहा

संसद में महंगा बैग छिपाते महुआ मोइत्रा का वीडियो, बोलीं- झोला लेकर आए थे, झोला लेकर जाएंगे
Gaurav Kalaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 02 Aug 2022 04:17 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा में महंगाई पर चर्चा के दौरान तृणमूल सांसद महुआ मोइत्रा का महंगा बैग छिपाते हुए वीडियो भाजपा नेता ने सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया। इसके बाद महुआ ट्रोल होने लगीं। बाद में महुआ मोइत्रा ने भाजपा नेता शहजाद पूनावाला के वीडियो पर कटाक्ष करने के लिए अपनी ही तस्वीरें पोस्ट कीं और लिखा, झोला लेकर आए थे, झोला लेकर जाएंगे।

भाजपा नेता ने महुआ पर अपना महंगा हैंडबैग छिपाने का आरोप लगाया था। इस पर महुआ मोइत्रा ने हैंडबैग के साथ अपनी तस्वीरों का कोलाज बनाया है। लिखा है- "झोला लेकर आए थे, झोला लेकर जाएंगे। झोलेवाला फकीर 2019 से संसद में है।" टीएमसी सांसद ने साल 2016 में एक रैली के दौरान पीएम मोदी की इसी तरह की टिप्पणी पर तंज कसा।

बता दें कि महुआ मोइत्रा  Louis Vuitton tote बैग लेकर सदन पहुंची थीं। इस बैक की कीमत काफी ज्यादा है। कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट पर इस बैक की कीमत 2,910 डॉलर यानी 2,28,728 रुपये है।

भाजपा नेता शहजाद पूनावाला ने कल शाम अपने ट्विटर अकाउंट पर एक छोटी वीडियो क्लिप पोस्ट की, जिसमें टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा को अपनी तरफ से अपना हैंडबैग उठाते और अपने सामने डेस्क के नीचे फर्श पर रखते हुए देखा जा सकता है, जबकि उनके साथ मौजूद एक सांसद महंगाई को लेकर अपनी बात रख रही थीं।

भाजपा प्रवक्ता पूनावाला ने वीडियो के साथ कैप्शन में लिखा,"मूल्य वृद्धि पर चर्चा के दौरान महुआ मोइत्रा ने अपना महंगा बैग छुपा रही हैं। पाखंड का एक चेहरा है और यह है! टीएमसी ऐसी पार्टी है जो भ्रष्टाचार में कटौती नहीं करती और मूल्य वृद्धि पर चर्चा करते हैं।"

 

जवाब में मोइत्रा ने काउंटर अटैक करते हुए भाजपा नेता पर तंज कसा। उन्होंने हैंडबैग के साथ अपनी तस्वीरों का कोलाज बनाया और कैप्शन में लिखा, "झोला लेकर आए थे, झोला लेकर जाएंगे। झोलेवाला फकीर 2019 से संसद में है।"

epaper