अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बुराड़ी के बाद अब हजारीबाग! घर में मिले एक ही परिवार के छह लोगों के शव

मृतक परिवार की एक तस्वीर।

दिल्ली के बुराड़ी इलाके में कुछ दिन पहले हुई दिल दहला देने वाली घटना जैसा ही मामला अब झारखंड के हजारीबाग में देखने को मिली है हजारीबाग में कानी बाजार के खजांची तालाब के निकट सीडीएम शुभम अपार्टमेंट के फ्लैट नम्बर 303 में रहने वाले शहर के जाने माने ड्राई फ्रुट व्यवसायी महावीर प्रसाद माहेश्वरी (70), पत्नी किरण माहेश्वरी (60), बेटा नरेश माहेश्वरी (40), बहू प्रीति माहेश्वरी (35), पोता अमन (10), पोती अनवी (7) की लाश मिली है। इसमें अमन (10) का गला रेता हुआ था। बेटी अनवी का गला ब्लडप्रेशर नापने वाली मशीन के पाइप से दबाया हुआ था। बुजुर्ग पिता महावीर प्रसाद माहेश्वरी का शव भी फंदे से लटका हुआ था। वहीं उनके पोते का शव पलंग पर पड़ा हुआ था। दूसरे कमरे में बहू प्रीति का शव बेड पर पड़ा था तो सास का शव फंदे से लटका हुआ था। पोती अनवी का शव डाइनिंग रूम में सोफे पर पड़ा हुआ था। उसके मुंह में इथर लगा हुआ रुई का फोहा डाला हुआ था। बेटे नरेश का शव अपार्टमेंट की गेट के पास पड़ा हुआ था।

इस घटना पर पुलिस का कहना है कि घटनास्थल से छह सुसाइड नोट मिले हैं। इससे यह बात तो तय है कि परिवार के लोगों ने आत्महत्या की है। लेकिन बच्चों की हत्या की गयी है। इसका आरोपी नरेश माहेश्वरी है। इसलिए उस पर हत्या का मामला दर्ज होगा।

बेटे की मौत का गम झेल रहे परिवार के साथ हुई ये कैसी नाइंसाफी

सुसाइड नोट में क्या है?

पुलिस को अपार्टमेंट के कमरे से अलग-अलग जगहों पर छह भूरे लिफाफे पर लाल स्याही से लिखे मिले हैं कि अमन को लटका नहीं सकते थे। इसलिए उसकी हत्या की गई। इसके नीचे नीली स्याही से मोटे अक्षरों में सुसाइड नोट लिखा है और उसके नीचे लिखा है। 'बीमारी+दुकान बंद+दुकानदारों का बकाया न देना+बदनामी+कर्ज= तनाव (टेंशन) = मौत।'

नरेश ने छत से कूदकर दी जान
महावीर प्रसाद का बेटा नरेश का शव अपार्टमेंट के नीचे मिला है। आशंका जताई जा रही है कि उसने सबकी मौत के बाद अंत में जान दे दी। लेकिन उसके पैर खरोंच का निशान है और चार तल्ले से कूदने के बाद भी शरीर डैमेज नहीं है। न ही आसपास कहीं कोई खून बरामद हुआ है। 

दिल्ली : मां ने किया शादी से इनकार तो बेटी ने की आत्महत्या

आत्महत्या या हत्या?
इस मामले में सुसाइड नोट मिलने पर तो कुछ लोग इसे आत्महत्या का रूप दे रहे हैं। हालांकि, इस संबंध में नगर डीएसपी चंदन वत्स का कहना है कि दो बच्चों की हत्या हुई है। इसलिए हत्या का ही मामला दर्ज किया जाएगा। फिलहाल पुलिस मौत की गुत्थी को सुलझाने के लिए जुटी है।

हजारीबाग सीआइडी टीम के लीडर सहदेव प्रसाद का कहना है कि व्यवसायी महावीर प्रसाद जिंदगी के स्ट्रगल में हार गए थे। कर्ज के बोझ में उन्होंने ऐसा किया है। उनके शव के आधा टंगे हुए हालत पर उन्हों कहा कि यह एक तरह का पार्शियल हैंगिग है। सभी लोगों ने मौत को गले लगा लिया है। 

3 दिन से भूखी किशोरी ने की खुदकुशी, पिता और भाई को जिम्मेदार बताया

घटनास्थल पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए हजारीबाग के डीआइजी पंकज कंबोज और एसपी मयूर पटेल ने कहा कि यह पूरी तरह से आत्महत्या का मामला है। चार लोगों ने आत्महत्या की है। जबकि दो लोगों की हत्या की गयी है।

बता दें, कुछ दिन पहले ऐसी ही घटना दिल्ली के बुराड़ी इलाके में देखने को मिली थी। यहां एक ही परिवार के 11 सदस्यों के शव घर में मिले थे। इनमें से 10 लोगों के शव फंदे से लटके हुए थे, जबकि एक का शव फर्श पर पड़ा था। दिल्ली पुलिस अभी इस मामले की गुत्थी नहीं सुलझा पाई है। अभी तक की जांच में पुलिस इसे मामले को सामूहिक आत्महत्या का मामला बता रही है।

मॉडल को बंधक बनाने वाले सिरफिरे आशिक को महिलाओं ने चप्पलों से धुना

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Jharkhand: six family members dead bodys found in house in Hazaribagh