DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फरमान: 8 ईसाई परिवारों को गांव छोड़ने को कहा

christian church

पश्चिमी सिंहभूम के मझगांव थाना क्षेत्र के बलियापोशी गढकेशना गांव के आठ ईसाई परिवार को गांव छोड़ने का दबाव बनाया जा रहा है। इसके लिए उन्हें जान से मारने की धमकी दी गई । उनके साथ मारपीट की गई । इस संबंध में पीड़ित परिवारों ने सोमवार को मंझगांव थाने में लिखित शिकायत की है।

पुलिस से अपनी सुरक्षा और न्याय देने की मांग करते हुए ईसाई परिवारों ने इस मामले में गांव की मुखिया और मुंडा को आरोपी बनाया है। शिकायत में पीड़ित परिवारों ने बताया है कि 14 जुलाई को पंचायत की मुखिया एलिन पाट पिंगुवा एवं ग्रामीण मुंडा रुस्तम पिंगुवा के नेतृत्व में दर्जनभर लोग उनके घर आये।

सभी ने ईसाई धर्म छोड़ने को कहा और धमकी दी। महिलाओं से मारपीट की। जान से मारने की धमकी दी गई और घरों में घुसकर तोड़फोड़ करते हुए धार्मिक ग्रंथों को जला दिया। घरों को जलाने की कोशिश गई। पीड़ितों ने बताया कि बलियापोशी गढकेशना में ईसाई समुदाय के आठ परिवार 15 वर्षों से रह रहे हैं। पीड़ित परिवारों ने थाना में आवेदन देकर जान-माल को खतरा बताते हुए सुरक्षा की मांग की है।

मुखिया एलिन पाट पिंगुवा ने कहा कि आरोप गलत हैं। घटना के दिन वह चाईबासा में थीं। वहीं गांव के मुंडा रुस्तम पिंगुवा ने बताया कि बाहर से मिशन के लोग आते हैं। इसके लिए मुंडा से अनुमति नहीं लेते। इन परिवारों को कहा गया है कि वे सरना धर्म में रहें। हालांकि मुंडा ने मारपीट और धर्म ग्रंथ जलाने से इनकार किया।

सिंहभूम की घटना
* घर में घुसकर तोड़फोड़ की और धर्मग्रंथों को जलाया।
* महिलाओं के साथ मारपीट, जान से मारने की धमकी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Jharkhand Eight Christian Family Force To Leave Village in West Singhbhum