ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशजम्मू-कश्मीर के उरी में घुसपैठ की कोशिश नाकाम, सेना ने 2 आतंकवादी मार गिराए

जम्मू-कश्मीर के उरी में घुसपैठ की कोशिश नाकाम, सेना ने 2 आतंकवादी मार गिराए

रक्षा विभाग के प्रवक्ता ने रविवार को यह बताया कि लगातार बारिश और कम दृश्यता की वजह से खराब मौसम का फायदा उठाकर हथियारों से लैस आतंकवादी नियंत्रण रेखा को पार करने का प्रयास कर रहे थे।

जम्मू-कश्मीर के उरी में घुसपैठ की कोशिश नाकाम, सेना ने 2 आतंकवादी मार गिराए
Niteesh Kumarभाषा,श्रीनगरMon, 23 Oct 2023 12:41 AM
ऐप पर पढ़ें

जम्मू-कश्मीर के उरी सेक्टर में नियंत्रण रेखा (LoC) पर सुरक्षाबलों ने घुसपैठ की कोशिश नाकाम कर दी। इस दौरान जवानों ने 2 आतंकवादियों को मार गिराया। रक्षा विभाग के एक प्रवक्ता ने रविवार को यह जानकारी दी। श्रीनगर में रक्षा विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि खुफिया एजेंसियों और जम्मू-कश्मीर पुलिस से गुप्त जानकारी मिली थी कि नियंत्रण रेखा के पार से भारी हथियारों से लैस आतंकी उरी सेक्टर में घुसपैठ की कोशिश कर सकते हैं। इसके बाद सैनिकों को 'हाई अलर्ट' पर रखा गया था और घुसपैठ रोधी ग्रिड को मजबूत किया गया था। 

रक्षा विभाग के प्रवक्ता ने कहा कि लगातार बारिश और कम दृश्यता की वजह से खराब मौसम का फायदा उठाकर हथियारों से लैस आतंकवादी नियंत्रण रेखा को पार करने का प्रयास कर रहे थे। उन्होंने बताया कि शुक्रवार और शनिवार की दरमियानी रात करीब 3 बजे आतंकवादियों के समूह को हमारे सैनिकों ने देख लिया, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। उन्होंने बताया कि सुबह होने तक मुठभेड़ जारी रही, जिसमें 2 आतंकवादियों को मार गिराया गया। भारतीय सेना के जवानों की यह बड़ी कामयाबी बताई जा रही है। 

घटनास्थल से राइफल, पिस्तौल और हथगोले बरामद
प्रवक्ता ने बताया कि नियंत्रण रेखा की दूसरी तरफ मौजूद दहशतगर्द मुठभेड़ में मारे गए आतंकियों को शवों को अपने साथ ले गए। उन्होंने बताया कि इलाके पर पूरी रात नजर रखी गई। प्रवक्ता ने बताया कि रविवार को घटनास्थल की गहन तलाशी ली गई और 2 AK श्रृंखला की राइफलें, 6 पिस्तौल,  4 चीन निर्मित हथगोले, कंबल और 2 खून से सने बैग सहित भारी मात्रा में लड़ाई में इस्तेमाल की जाने वाली सामग्री बरामद की गई। उन्होंने बताया कि बैग में से पाकिस्तानी व भारतीय मुद्रा, पाकिस्तान में उत्पादित दवाएं और खाने के सामान मिले हैं। सेना की ओर से पूरे इलाके में अब चौकसी और ज्यादा बढ़ा दी गई है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें