अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जेटली ने माल्या के मुलाकात के दावे को किया खारिज, कहा- उसे कभी समय नहीं दिया

Vijay Mallya arrives at Westminster Magistrates Court in London (REUTERS)

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने शराब कारोबारी विजय माल्या के इस बयान को बुधवार को खारिज किया कि वह (माल्या) 2016 में भारत छोड़ कर लंदन जाने से पहले उनसे मिला था। जेटली ने कहा कि 2014 में मंत्री बनने बाद उन्होंने माल्या को कभी मिलने का समय नहीं दिया लेकिन शराब कारोबारी ने राज्यसभा सदस्य के रूप में अपने विशेषाधिकार का गलत इस्तेमाल करते हुए संसद भवन के गलियारे में उन्हें रोककर बात करने की कोशिश की थी।

न्यूज एजेंसी भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक वित्त मंत्री ने फेसबुक पर एक लेख में माल्या के लंदन में दिए गए बयान को 'तथ्यात्मक रूप' से गलत बताया। उन्होंने कहा कि उसके बयान में 'सच्चाई नहीं है।' उन्होंने लिखा है, '2014 के बाद से मैंने उसे मिलने का समय नहीं दिया है और उससे उनकी मुलाकात का सवाल ही पैदा नहीं होता।' जेटली के मुताबिक राज्यसभा के सदस्य होने के नाते माल्या ने कभी कभी संसद की कार्यवाही में भी हिस्सा लिया।'

विजय माल्या प्रत्यर्पण मामला: लंदन कोर्ट 10 दिसंबर को सुनाएगा फैसला

वित्त मंत्री ने माल्या के बयान के बारे में लिखा है, 'उसने एक बार इस विशेषाधिकार का गलत फायदा उठाया और जब मैं सदन से निकल कर अपने कमरे की तरफ बढ़ रहा था तो वह तेजी से पीछा कर मेरे पास आ गया। चलते-चलते उसने कहा कि उसके पास ऋण के समाधान की एक योजना है।'

साथ ही जेटली ने कहा, 'उसकी पहले की ऐसी 'झूठी पेशकश' के बारे में पहले से पूरी तरह अवगत होने के कारण उसे बातचीत आगे बढ़ाने का मौका नहीं देते हुए मैंने कहा कि 'मुझसे बात करने का कोई फायदा नहीं है और उसे अपनी बात बैंकों के सामने रखनी चाहिए।'

माल्या के बयान पर विपक्ष ने सवाल उठाया है कि आखिर शराब कारोबारी को देश से भागने की छूट किसने दी। इस सवाल पर जेटली ने कहा कि कांग्रेस पार्टी हमेशा झूठ की राजनीति करती रही है। 

SC सख्त: नेताओं के केस के लिए विशेष कोर्ट पर 18 राज्यों को नोटिस

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Jaitley dismisses Mallya claim on meeting says it is factually false