ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशअडानी लिखना था, आडवाणी टाइप हो गया; भाजपा नेता को भारत रत्न पर कांग्रेस का तंज

अडानी लिखना था, आडवाणी टाइप हो गया; भाजपा नेता को भारत रत्न पर कांग्रेस का तंज

भाजपा के वयोवृद्ध नेता लालकृष्ण आडवाणी को भारत रत्न मिलने पर कांग्रेस ने तीखा कटाक्ष किया है। कांग्रेस लीडर जयराम रमेश ने कहा कि असल में यह सम्मान अडानी को मिलना था, लेकिन टाइप गलत हो गया।

अडानी लिखना था, आडवाणी टाइप हो गया; भाजपा नेता को भारत रत्न पर कांग्रेस का तंज
Surya Prakashलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 12 Feb 2024 05:41 PM
ऐप पर पढ़ें

देश के पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी को भारत रत्न मिलने पर कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने तीखा कटाक्ष किया है। उन्होंने कहा कि जब भारत रत्न की घोषणा होनी थी तो टाइपिस्ट से गलती हो गई। उसे अडानी  टाइप करना था लेकिन गलती से आडवाणी टाइप हो गया। उन्होंने छत्तीसगढ़ के कोरबा में लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर भी बड़ी टिप्पणी की। रमेश ने कहा कि नीतीश कुमार और जयंत चौधरी के INDIA अलायंस से एग्जिट के बाद भी कोई असर नहीं होगा। उनका कहना है कि INDIA की ताकत बनी हुई है और हम जल्दी ही सीट बंटवारे पर फैसला करेंगे। 

उन्होंने यह भी कहा कि सभी सहयोगी जल्द ही आगामी लोकसभा चुनाव के लिए सीट बंटवारे को अंतिम रूप देंगे। छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले के बरपाली गांव में रमेश ने कहा कि जेडीयू चीफ नीतीश कुमार और रालोद के ‘INDIA’ गठबंधन छोड़ने से मोर्चे पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। एक सवाल के जवाब में रमेश ने कहा, INDIA अलायंस गठबंधन मजबूत है। नीतीश जी ने पलटी मारी है और रालोद भी वही करने की कोशिश कर रहा है। गठबंधन में 28 दल थे। अब दो दल कम हो गए। उन्होंने कहा, '(लोकसभा चुनाव के लिए) सीट बंटवारे को लेकर आम आदमी पार्टी, द्रमुक, राकांपा, उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना और ममता बनर्जी जी के साथ चर्चा चल रही है। नीतीश और रालोद के अलग होने से गठबंधन पर कोई असर नहीं पड़ेगा। हम मजबूत हैं और जल्द ही विभिन्न राज्यों में सीट बंटवारे को अंतिम रूप दे दिया जाएगा।'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कांग्रेस नेता ने कहा, 'मोदी जी ने पहले 'एक देश, एक कर' और 'एक देश, एक चुनाव' की बात की थी लेकिन असल में मोदी जी के 10 साल के कार्यकाल में यह 'एक देश, एक कंपनी' बन गया है।' उन्होंने कहा, 'कांग्रेस पार्टी और राहुल जी भारत जोड़ो यात्रा और भारत जोड़ो न्याय यात्रा के माध्यम से इस पूंजीवाद के खिलाफ आवाज उठाते रहे हैं। पिछले दस वर्षों में महंगाई बढ़ रही है, बेरोजगारी दर पिछले 45 वर्षों में सबसे अधिक है और सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम (पीएसयू) बेचे जा रहे हैं।'

फिल्म 20 साल बाद का क्यों जिक्र कर रहे जयराम रमेश

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की संभावनाओं के बारे में पूछे जाने पर, रमेश ने कहा, 'आपको विश्वजीत और वहीदा रहमान अभिनीत 'बीस साल बाद' नामक फिल्म याद होगी जो 1962 में रिलीज़ हुई थी। 2003 दिसंबर में हमें छत्तीसगढ़, राजस्थान और मध्य प्रदेश में हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन 2004 में कांग्रेस के नेतृत्व वाले गठबंधन ने केंद्र में सरकार बनाई। अब 20 साल बाद 2024 में वही दोहराया जाएगा जो 2004 में हुआ था।'

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें