ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशराष्ट्रपति खड़ी थीं और पीएम मोदी बैठे रहे, यह घोर अपमान; आडवाणी को सम्मान वाली फोटो पर कांग्रेस

राष्ट्रपति खड़ी थीं और पीएम मोदी बैठे रहे, यह घोर अपमान; आडवाणी को सम्मान वाली फोटो पर कांग्रेस

कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने आरोप लगाया, ‘यह हमारी राष्ट्रपति महोदया का घोर अपमान है। प्रधानमंत्री को अवश्य खड़ा होना चाहिए था।’ राष्ट्रीय जनता दल की ओर से भी इसी तरह की बात कही गई है।

राष्ट्रपति खड़ी थीं और पीएम मोदी बैठे रहे, यह घोर अपमान; आडवाणी को सम्मान वाली फोटो पर कांग्रेस
Niteesh Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSun, 31 Mar 2024 10:31 PM
ऐप पर पढ़ें

कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के अपमान का आरोप लगाया है। जयराम रमेश ने भाजपा के सीनियर नेता लालकृष्ण आडवाणी को भारत रत्न दिए जाने के समय की फोटो शेयर की। इसके साथ उन्होंने लिखा कि पीएम मोदी ने राष्ट्रपति की मौजूदगी में खड़े न होकर उनका घोर अपमान किया है। कांग्रेस महासचिव ने राष्ट्रपति मुर्मू की ओर से आडवाणी को उनके आवास पर भारत रत्न पुरस्कार प्रदान करते हुए तस्वीरें एक्स पर पोस्ट कीं। तस्वीरों में दिख रहा है कि आडवाणी और प्रधानमंत्री मोदी कुर्सियों पर बैठे हैं जबकि राष्ट्रपति मुर्मू खड़े होकर भाजपा के दिग्गज नेता को प्रशस्ति पत्र सौंप रही हैं।

जयराम रमेश ने आरोप लगाया, ‘यह हमारी राष्ट्रपति महोदया का घोर अपमान है। प्रधानमंत्री को अवश्य खड़ा होना चाहिए था।’ राष्ट्रीय जनता दल की ओर से भी इसी तरह की बात कही गई है। राजद के नेता व बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भी विपक्ष की रैली के दौरान इस मुद्दे को उठा दिया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्रपति के सम्मान में भी खड़े नहीं हुए। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा को संविधान में कोई विश्वास नहीं है।

'देश की प्रगति में आडवाणी के योगदान को मान्यता' 
वहीं, पीएम मोदी ने रविवार को कहा कि लालकृष्ण आडवाणी को भारत रत्न से सम्मानित किया जाना देश की प्रगति में उनके महत्वपूर्ण योगदान को मान्यता है। मोदी के अलावा इस समारोह में उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृहमंत्री अमित शाह और आडवाणी के परिवार के सदस्य उपस्थित रहे। मोदी ने एक्स पर एक पोस्ट में समारोह की तस्वीरें साझा करते हुए कहा, ‘लालकृष्ण आडवाणी जी को भारत रत्न से सम्मानित होते देखना बहुत खास था। यह सम्मान हमारे देश की प्रगति में उनके महत्वपूर्ण योगदान को मान्यता है। जन सेवा के प्रति आडवाणी जी का समर्पण और आधुनिक भारत को आकार देने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका ने हमारे इतिहास पर एक अमिट छाप छोड़ी है। मुझे इस बात का गर्व है कि पिछले कई दशकों में मुझे उनके साथ बहुत करीब से काम करने का मौका मिला।’
(एजेंसी इनपुट के साथ)