ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशNISAR मिशन पर बड़ी खुशखबरी देगा इसरो, NASA चीफ बिल नेल्सन आ रहे भारत

NISAR मिशन पर बड़ी खुशखबरी देगा इसरो, NASA चीफ बिल नेल्सन आ रहे भारत

सरो जल्द ही 2024 में NISAR मिशन को लेकर बड़ी खुशखबरी दे सकता है क्योंकि नासा चीफ बिल नेल्सन भारत की यात्रा करने वाले हैं।

NISAR मिशन पर बड़ी खुशखबरी देगा इसरो, NASA चीफ बिल नेल्सन आ रहे भारत
Gaurav Kalaएएनआई,वाशिंगटनSun, 26 Nov 2023 10:23 AM
ऐप पर पढ़ें

भारत की अंतरिक्ष एजेंसी इसरो जल्द ही NISAR मिशन को लेकर बड़ी खुशखबरी दे सकता है क्योंकि नासा प्रमुख बिल नेल्सन भारत की यात्रा करने वाले हैं। निसार मिशन को नासा और इसरो मिलकर 2024 में लॉन्च करने वाले है। नासा ने आधिकारिक बयान में कहा कि बिल नेल्सन अंतरिक्ष मिशन को लेकर जरूरी बातों के लिए सोमवार को भारत का दौरा करेंगे। नेल्सन के भारत के अलावा संयुक्त अरब अमीरात की भी यात्रा प्रस्तावित है।

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने एक विज्ञप्ति में कहा कि नेल्सन अंतरिक्ष अनुसंधान से संबंधित क्षेत्रों, विशेष रूप से इसरो के साथ 2024 में लॉन्च होने वाले मिशन को लेकर भारत का दौरा करने वाले हैं। नासा ने अपने बयान में इसरो के साथ पृथ्वी विज्ञान में द्विपक्षीय सहयोग को और गहरा करने के लिए अपनी प्रतिबद्धता जताई है। नेल्सन भारत दौरे में अंतरिक्ष अधिकारियों से भी मुलाकात करेंगे। नेल्सन की भारत यात्रा अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के उस बयान के बाद हो रही है, जिसमें उन्होंने कहा था कि अमेरिका और भारत अंतरिक्ष में लंबी उड़ान भरने को तैयार हैं।

NISAR पर क्या होगी बात
नेल्सन बेंगलुरु स्थित इसरो के प्रमुख सेंटर समेत कई स्थानों का दौरा करेंगे। इसमें NISAR मिशन भी शामिल है। नेल्सन भारतीय अंतरिक्ष वैज्ञानिकों से निसार मिशन को लेकर अहम जानकारियां भी साझा  करेंगे। निसार पर दोनों एजेंसियों की तरफ से काम लगभग पूरा हो चुका है। बता दें कि भारतीय एजेंसी इसरो और नासा 2024 में निसार मिशन लॉन्च करने वाले हैं। NISAR नासा इसरो सिंथेटिक एपर्चर रडार का संक्षिप्त रूप है।

NISAR का लक्ष्य
नासा और इसरो के बीच 2024 के लिए निसार मिशन पर सहमति बनी है। इसका उद्देश्य धरती पर नजर रखना है। दोनों एजेंसियां एक ऐसे यान को अंतरिक्ष पर भेजेंगी जो धरती के क्लाइमेट पर नजर रखेगा। इस यान की मदद से जंगलों और वेट लैंड (दलदली जमीन) पर भी नजर रखी जा सकेगी। इसके अलावा मिशन की मदद से प्राकृतिक खतरों, भूजल, जलवायु परिवर्तन और कृषि समेत कई विषयों पर विस्तृत अध्ययन किया जा सकेगा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें