ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशजम्मू-कश्मीर: आईपीएस अधिकारी के भाई समेत तीन आतंकी ढेर

जम्मू-कश्मीर: आईपीएस अधिकारी के भाई समेत तीन आतंकी ढेर

जम्मू एवं कश्मीर के शोपियां जिले में मंगलवार को सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) अधिकारी के एक भाई समेत तीन आतंकी मारे गए। जबकि मुठभेड़ में एक सैनिक घायल हुआ है।...

जम्मू-कश्मीर: आईपीएस अधिकारी के भाई समेत तीन आतंकी ढेर
श्रीनगर | एजेंसियांTue, 22 Jan 2019 06:51 PM
ऐप पर पढ़ें

जम्मू एवं कश्मीर के शोपियां जिले में मंगलवार को सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) अधिकारी के एक भाई समेत तीन आतंकी मारे गए। जबकि मुठभेड़ में एक सैनिक घायल हुआ है। पुलिस सूत्रों ने कहा मंगलवार को सुबह शेरमल गांव में चार से छह आतंकियों को छिपने की सूचना मिली। इसके बाद सेना, सीआरपीएफ और जम्मू-कश्मीर पुलिस के जवानों ने इलाके में तलाशी अभियान शुरू किया। आतंकियों ने जवानों पर गोलीबारी की, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। 

पुलिस ने बताया कि हेफ शेरमल गांव में सुरक्षाबलों के हाथों मारे गए आतंकवादियों में द्रग्गुड गांव का शमसुल मेंगनू भी शामिल है। शमसुल मेंगनू, 2012 बैच के आईपीएस अधिकारी इनामुल हक मेंगनू का छोटा भाई है। हक अभी पूर्वोत्तर में तैनात हैं। शमसुल आतंकी गतिविधि में शामिल होने से पहले श्रीनगर के एक कॉलेज से यूनानी मेडिसीन में स्नातक की पढ़ाई कर रहा था।

डीजल के दाम में लगातार 13वें दिन भी तेजी, पेट्रोल भी हुआ महंगा

सूत्रों ने कहा,मारे गए आतंकियों के पास से तीन हथियार और गोला-बारूद बरामद किए गए हैं। मुठभेड़ में घायल जवान को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इससे पहले मिली रिपोर्ट में कहा गया था कि क्षेत्र में छह से सात आंतकवादी मौजूद हैं, जिसमें हिजबुल मुजाहिदीन के शीर्ष कमांडर शामिल हैं।
शमसुल के मारे जाने पर टिप्पणी करते हुए राज्य के पूर्व पुलिस महानिदेशक शेष पॉल वैद ने हिजबुल आतंकी का यह दुखद अंत है। उन्होंने कहा, शमसुल के आईपीएस भाई ने उसे मुख्यधारा में लाने की तमाम कोशिशें की थीं। 

फिर जुटी पत्थरबाजों की भीड़ 
सेना की कार्रवाई में बाधा डालने और आतंकियों को बचाने के इरादे से एक बार फिर मुठभेड़ स्थल पर पत्थरबाजों की भीड़ एकत्र हुई। पत्थरबाजों और सुरक्षाबलों के बीच करीब चार घंटे तक झड़प हुई। प्रदर्शनकारियों ने सुरक्षाबलों की कोशिशों को नाकाम करने की कोशिश की, जिसके बाद सुरक्षाबलों ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे और पेलेट गन का इस्तेमाल किया।

EVM HACK के दावे पर मायावती बोलीं- बैलेट पेपर से हो अगला लोकसभा चुनाव