DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

INX Media Case: पी चिदंबरम को लेकर बोले कुमार विश्वास- पूर्व वित्तमंत्री जी मैदान में लड़िए

kumar vishwas  ht photo

आईएनएक्स मीडिया केस में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम (P Chidambaram)की मुश्किलें बढ़ी हुई हैं। पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता पी चिदंबरम को 24 घंटे के भीतर कोर्ट से दो झटके लगे हैं। सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार दोपहर दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश के खिलाफ पी चिदंबरम की याचिका को सुनवाई के लिए तत्काल सूचीबद्ध करने से इनकार कर दिया। पी चिंदबरम के मामले पर राहुल गांधी से लेकर प्रियंका गांधी ने प्रतिक्रिया दी है। वहीं कवि कुमार विश्वास ने भी पी चिदंबरम को लेकर ट्वीट किया है और कहा कि आप कानून से भागकर अपना और अपनी पार्टी का पक्ष कमजोर कर रहे हैं। निर्दोष हैं तो मैदान में लड़िए।

ये भी पढ़ें: चिदंबरम को SC से नहीं मिली फौरी राहत, ED ने जारी किया लुकआउट नोटिस

कुमार विश्वास ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया और लिखा, 'जांच राजनीति प्रेरित हो सकती है। आज के गृहमंत्री/प्रधानमंत्री के ख़िलाफ़ वर्षों होती रही है! लेकिन राजनिति में होकर देश के पूर्व क़ानून/गृहमंत्री/वित्तमंत्री जी, क़ानून से भागकर आप अपना और अपने दल का पक्ष कमजोर ही कर रहे हैं! निर्दोष हैं तो मैदान में लड़िए.' 

इससे पहले चिदंबरम द्वारा सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका में कहा गया कि आईएनएक्स मीडिया मामले में उन्हें कर्ता-धर्ता बताने संबंधी दिल्ली उच्च न्यायालय की टिप्पणी पूर्णतय: निराधार है और इस मामले में दर्ज प्राथमिकी 'राजनीति से प्रेरित और प्रतिशोध की कार्रवाई है।'

चिदंबरम ने आईएनएक्स मीडिया मामले में गिरफ्तारी से पूर्व जमानत के लिए दी गई अपनी याचिका खारिज करने के दिल्ली उच्च न्यायालय के फैसले को उच्चतम न्यायालय में चुनौती दी है। चिदंरबम ने एक बयान में कहा, 'याचिकाकर्ता को मामले में कर्ता-धर्ता यानी मुख्य षड्यंत्रकारी बताने वाली न्यायाधीश की टिप्पणी पूरी तरह निराधार है और कोई सामग्री इसकी पुष्टि नहीं करती।' 

यह भी पढ़ें- चिदंबरम को 24 घंटे में कोर्ट से 2 झटके, SC का तत्काल सुनवाई से इंकार

गौरतलब है कि आईएनएक्स मीडिया मामले में दिल्ली उच्च न्यायालय से अग्रिम जमानत याचिका खारिज होने के बाद सीबीआई अधिकारी मंगलवार को चिदंबरम के दिल्ली स्थित आवास पहुंचे, लेकिन वहां उनसे मुलाकात नहीं होने पर अधिकारियों ने एक नोटिस चस्पां कर उन्हें दो घंटे में पेश होने का निर्देश दिया था। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:INX media case Kumar Vishwas on P Chidambram