ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशभारत में इंदौर की हवा सबसे ज्यादा साफ, आगरा ने भी मारी बाजी; इन शहरों का नाम भी शामिल

भारत में इंदौर की हवा सबसे ज्यादा साफ, आगरा ने भी मारी बाजी; इन शहरों का नाम भी शामिल

पर्यावरण मंत्री भूपेन्द्र यादव ने गुरुवार को मध्य प्रदेश के भोपाल में स्वच्छ वायु सर्वेक्षण 2023 जारी किया। 10 लाख से अधिक आबादी वाले शहरों में, इंदौर को पहले स्थान पर रखा गया है।

भारत में इंदौर की हवा सबसे ज्यादा साफ, आगरा ने भी मारी बाजी; इन शहरों का नाम भी शामिल
Amit Kumarलाइव हिन्दुस्तान,भोपालThu, 07 Sep 2023 11:15 PM
ऐप पर पढ़ें

भारत में इंदौर, अमरावती और परवाणू की हवा सबसे स्वच्छ है, जबकि मदुरै, जम्मू और कोहिमा की हवा सबसे खराब है। स्वच्छ वायु सर्वेक्षण 2023 में यह खुलासा हुआ है। पर्यावरण मंत्री भूपेन्द्र यादव ने गुरुवार को मध्य प्रदेश के भोपाल में स्वच्छ वायु सर्वेक्षण 2023 जारी किया। 10 लाख से अधिक आबादी वाले शहरों में, इंदौर को पहले स्थान पर रखा गया है, उसके बाद आगरा और ठाणे को और मदुरै, हावड़ा व जमशेदपुर को क्रमशः 46, 45 और 44 वें स्थान पर रखा गया है। दिल्ली नौवें स्थान पर और एमपी की राजधानी भोपाल पांचवें स्थान पर रही।

यह सर्वेक्षण केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) ने किया। सीपीसीबी ने ‘स्वच्छ वायु सर्वेक्षण’ के तहत शहरों की श्रेणी संबंधित शहर की कार्ययोजना के तहत मंजूर की गई गतिविधियों के कार्यान्वयन के आधार पर तय की। राष्ट्रीय स्वच्छ वायु कार्यक्रम (एनसीएपी) के तहत 131 शहरों की वायु गुणवत्ता को शामिल किया गया है। दस लाख से अधिक जनसंख्या की श्रेणी में मध्य प्रदेश के इंदौर ने पहला स्थान हासिल किया, इसके बाद आगरा (उत्तर प्रदेश) दूसरे तो ठाणे (महाराष्ट्र) तीसरे स्थान पर रहा।

दूसरे वर्ग की श्रेणी के तहत उन शहरों को शामिल किया गया जिनकी आबादी तीन से 10 लाख के बीच है। इस श्रेणी में महाराष्ट्र का अमरावती शीर्ष पर रहा, जबकि उत्तर प्रदेश का मुरादाबाद दूसरे स्थान पर और आंध्र प्रदेश का गुंटूर तीसरे स्थान पर रहा। जम्मू, गुवाहाटी और जालंधर क्रमशः 38वें, 37वें और 36वें स्थान पर रहे। तीन लाख से कम आबादी वाले शहरों की फेहरिस्त में हिमाचल प्रदेश का परवानू शीर्ष पर रहा, जबकि इसी राज्य का काला अंब दूसरे और ओडिशा का अंगुल तीसरे स्थान पर रहा।

केंद्रीय मंत्री ने कहा, “इस वर्ष, नीले आसमान के लिए स्वच्छ वायु का चौथा अंतर्राष्ट्रीय दिवस (स्वच्छ वायु दिवस 2023) मजबूत साझेदारी बनाने, निवेश बढ़ाने और वायु प्रदूषण पर काबू पाने के लिए जिम्मेदारी साझा करने के लिए है, जिसका वैश्विक विषय “स्वच्छ वायु के लिए एक साथ” है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने समग्र दृष्टिकोण के माध्यम से 100 से अधिक शहरों में वायु गुणवत्ता में सुधार करने के इरादे और योजना की घोषणा की थी। वायु गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए इस कार्यक्रम के तहत शहर विशिष्ट कार्य योजनाओं के कार्यान्वयन के लिए 131 शहरों की पहचान की गई है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें