ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशकोलकाता में लैंड होने वाला था विमान मगर लेजर बीम लगने से बंद हुईं पायलट की आंखें, फिर जो हुआ

कोलकाता में लैंड होने वाला था विमान मगर लेजर बीम लगने से बंद हुईं पायलट की आंखें, फिर जो हुआ

विमानन कंपनी इंडिगो की फ्लाइट में 165 यात्री सवार थे और 6 क्रू मेंबर्स थे। एयरपोर्ट अधिकारियों ने कहा, 'इंडिगो की फ्लाइट संख्या 6E 223 के कैप्टन शुक्रवार शाम को 7:30 बजे लैंड कराने वाले थे।'

कोलकाता में लैंड होने वाला था विमान मगर लेजर बीम लगने से बंद हुईं पायलट की आंखें, फिर जो हुआ
Niteesh Kumarलाइव हिन्दुस्तान,कोलकाताSun, 25 Feb 2024 09:59 AM
ऐप पर पढ़ें

इंडियो की फ्लाइट के लैंड होने से ठीक पहले लेजर पायलट की आंखों के सामने बीम लगने का मामला सामने आया है। यह घटना उस वक्त हुई जब विमान कोलकाता एयरपोर्ट पर लैंड होने से 1 किलोमीटर दूर था। रिपोर्ट के मुताबिक, इस फ्लाइट ने बेंगलुरु से उड़ान भरी थी। लेजर बीम के जरिए विमान के कॉकपीट की ओर काफी तेज लाइट चमकी थी। इसके चलते फ्लाइट में सवार पायलट्स की आंखों के सामने कुछ समय के लिए अंधेरा छा गया। एयरलाइन की ओर से इस घटना पर गंभीर चिंता जताई गई है और इसे लेकर बिधाननगर पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज हुई है। ऐसी हरकत को विमान की सुरक्षा के लिए खतरनाक बताया गया और आरोपियों के खिलाफ सख्त ऐक्शन लेने की मांग की गई है। 

विमानन कंपनी इंडिगो की इस फ्लाइट में 165 यात्री सवार थे और 6 क्रू मेंबर्स थे। एयरपोर्ट अधिकारियों ने कहा, 'इंडिगो की फ्लाइट संख्या 6E 223 के कैप्टन शुक्रवार शाम को 7:30 बजे लैंड कराने वाले थे। इसी दौरान उन्हें कैखाली के पास लेजर लाइट की तेज चमक का सामना करना पड़ा। इस दौरान प्लेन लैंड होने के लिए रनवे की ओर तेजी से बढ़ रही थी। ऐसी स्थिति में थोड़े समय के लिए भी अंधेरापन या किसी तरह का भटकाव खतरनाक हो सकता है। यही वजह है कि अगर लैंडिंग स्ट्रिप के पास किसी तरह की दिक्कत आती है तो पायलट लैंडिंग टाल देते हैं और दोबारा यह प्रयास करते हैं।'

पुलिस से एक्शन-टेकन रिपोर्ट मिलने का इंतजार 
एयरपोर्ट अधिकारी ने कहा कि शिकायत NSCBI एयरपोर्ट पुलिस स्टेशन को भेज दी गई है। फिलहाल, उन्हें पुलिस की ओर से एक्शन-टेकन रिपोर्ट मिलने का इंतजार है। अधिकारी ने बताया कि लेजर लाइट की समस्या और उड़ानों के लिए उनके खतरे पर पिछले हफ्ते हवाई अड्डा पर्यावरण प्रबंधन समिति की बैठक हुई थी। इस दौरान मामले पर विस्तार से चर्चा की गई, जिसमें बंगाल की गृह सचिव नंदिनी चक्रवर्ती ने भाग लिया था। नागर विमानन महानिदेशालय ने लैंडिंग के दौरान पायलटों को लेजर बीम से अंधे होने से रोकने के लिए कदम उठाए हैं। इसके तहत हवाई अड्डों के आसपास लेजर लाइट के लिए 18.5 किमी-त्रिज्या बहिष्करण क्षेत्र को अनिवार्य किया गया है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें