DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दाऊद पर और कसेगा शिकंजा, भारतीय जांच एजेंसी के सामने गुर्गा उगलेगा राज!

an undated photo provided by an official in an indian security agency  indian agencies believe that

भारत उम्मीद कर रहा है कि अंडर वर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के सबसे करीबी सहयोगियों में से एक माने जाने वाले जाबिर सिद्दीकी उर्फ ​​मोतीवाला से पूछताछ के लिए ब्रिटेन उसके अनुरोध को मंजूरी देगा। इससे 1993 मुंबई बम धमाके के मुख्य आरोपी द्वारा देश में चलाए जा रहे ड्रग्स और जबरन वसूली की कुछ जानकारी मिलेगी। शायद पाकिस्तान में भगोड़े की उपस्थिति के कुछ सबूत भी मिल सकते है। 

भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने जबीर से जुड़ा जो डोजियर ब्रिटेन को सौंपा है उसकी समीक्षा हिंदुस्तान टाइम्स ने की है। इसके मुताबिक, वह दाऊद के सहयोगियों में से एक है जो कराची स्थित इस्लाम बाबा ट्रस्ट में ट्रस्टी है जहां इब्राहिम, उसकी पत्नी, उसका बेटा और दो बेटे हैं भी ट्रस्टी हैं। इस ट्रस्ट को भारतीय राष्ट्रीय सुरक्षा प्रतिष्ठान द्वारा डी-कंपनी की संपत्तियों के प्रबंधन के लिए एक धार्मिक मोर्चे के रूप में बताया गया है।

14 साल के बच्चे ने राष्ट्रपति और पीएम से मांगी इच्छा मृत्यु की अनुमति

जाबिर सिद्दीकी तक पहुंचने के लिए भारत अमेरिकी प्रवर्तन एजेंसियों के साथ भी काम कर रहा है। सिद्दीकी अभी दक्षिण-पश्चिम लंदन के वैंड्सवर्थ जेल में है और ड्रग तस्करी, जबरन वसूली, ब्लैकमेल और मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों में अमेरिका में प्रत्यर्पण किया जा सकता है। उसके मामले में 22 जुलाई को सुनवाई होनी है। ऐसा माना जाता है कि सिद्दीकी दाऊद इब्राहिम के खिलाफ पहला सबूत वास्तविक सबूत होगा जिसमें उसके अफगानिस्तान से ड्रग्स के व्यापार में शामिल होने के सबूत होंगे। 53 वर्षीय पाकिस्तानी नागरिक सिद्दीकी, इब्राहिम के सबसे भरोसेमंद लोगों में से एक माना जाता है जिसे वित्त, निवेश और शेल कंपनियों का पूरा ज्ञान है, जिसके माध्यम से तथाकथित डी-कंपनी (इब्राहिम के संचालन के रूप में) दुनिया भर में चल रही है।

mumbai building collapse: 14 की मौत, मलबे के नीचे जिंदगी की तलाश जारी

सिद्दीकी को 17 अगस्त 2018 को स्कॉटलैंड यार्ड में अमेरिकी प्रवर्तन एजेंसियों के कहने पर गिरफ्तार किया था। नई दिल्ली और वाशिंगटन स्थित काउंटरटेरर ऑपरेटिव के अनुसार, उन्हें वित्तीय मामलों और पाकिस्तान, पश्चिम एशिया और एशिया, अफ्रीका और यूरोप के देशों में कंपनी के निवेश का काम सौंपा गया था। इब्राहिम के साथ उसकी निकटता इस बात से स्पष्ट है कि वह कराची के क्लिफ्टन में डिफेंस हाउसिंग अथॉरिटी के डी-ब्लॉक से सटी संपत्तियों का मालिक है। भारतीय सुरक्षा डोजियर के अनुसार, वह इब्राहिम के परिवार के बहुत करीब है, जिसमें दाउद की दूसरी पत्नी, बेटा और दो दामाद शामिल हैं। इस्लामाबाद ने बार-बार इनकार किया है कि उसे इब्राहिम के स्थान का पता नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:indian investigation agency interrogate Dawood Ibrahim closest aides Jabir Siddiq aka Motiwala in UK