ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशसेना की बड़ी तैयारी; 200 माउंटेड हॉवित्जर तोपें और 400 टोड गन सिस्टम, कैसे मारक क्षमता होगी और भी घातक

सेना की बड़ी तैयारी; 200 माउंटेड हॉवित्जर तोपें और 400 टोड गन सिस्टम, कैसे मारक क्षमता होगी और भी घातक

यह 'मेक इन इंडिया' प्रोजेक्ट होगा। इसके लिए भारतीय कंपनियों को 200 नए माउंटेड हॉवित्जर खरीदने के लिए जल्द ही टेंडर जारी होगा। ये सभी हॉविज्जर तोपें 105 मिमी 37 कैलिबर गन से लैस होंगी।

सेना की बड़ी तैयारी; 200 माउंटेड हॉवित्जर तोपें और 400 टोड गन सिस्टम, कैसे मारक क्षमता होगी और भी घातक
Niteesh Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 27 Nov 2023 09:46 PM
ऐप पर पढ़ें

भारतीय सेना अपनी मारक क्षमता को नई धार देने जा रही है। इसके लिए आर्मी जल्द ही 105 मिमी गन्स से लैस 200 नई हॉवित्जर तोपों के लिए टेंडर जारी करने वाली है। ये हथियार चीन के साथ वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) जैसे ऊंचाई वाले सीमावर्ती क्षेत्रों में बहुत कारगर साबित होंगे। न्यूज एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, रक्षा सूत्रों ने बताया कि यह 'मेक इन इंडिया' प्रोजेक्ट होगा। इसके लिए भारतीय कंपनियों को 200 नए माउंटेड हॉवित्जर खरीदने के लिए जल्द ही टेंडर जारी होगा। ये हॉविज्जर तोपें 105 मिमी 37 कैलिबर गन से लैस होंगी।

सूत्रों ने बताया कि यह पहला मौका होगा जब भारतीय तोपखाने में इस तरह की 105 मिमी माउंटेड हॉवित्जर तोपें शामिल होंगी। इससे फ्रंट पर तैनात यूनिट्स की ताकत में काफी इजाफा होगा। आर्मी भारतीय कंपनियों की क्षमताओं का इस्तेमाल करके तोपखाने का आधुनिकीकरण करने में जुटी है। दरअसल, इंडियन इंडस्ट्री ने इस फील्ड में अपनी क्षमताएं डेवलप की हैं और अब तो विदेशों में भी निर्यात हो रहा है। 200 माउंटेड हॉवित्जर तोपों के डेवलपमेंट के साथ ही रक्षा मंत्रालय के पास कुछ और भी प्लान हैं। जल्द ही मेक इन इंडिया के तहत 400 नई टोड गन सिस्टम की खरीद को मंजूरी देने का मामला उठाया जा सकता है।

400 टोड आर्टिलरी गन सिस्टम की खरीद का प्रस्ताव
30 नवंबर को रक्षा अधिग्रहण परिषद की बैठक होनी है। इसमें 400 टोड आर्टिलरी गन सिस्टम की खरीद के प्रस्ताव पर चर्चा हो सकती है। सेना की आर्टिलरी रेजिमेंट 155 मिमी/52 कैलिबर टोड गन सिस्टम के प्रोडक्शन के लिए भारतीय उद्योग की विशेषज्ञता का इस्तेमाल करना चाहती है। ये हथियार हल्के और बहुमुखी होने के साथ ही भविष्य की जरूरतों को पूरा करेंगे। मालूम हो कि भारतीय सेना पहले ही 307 एडवांस्ड टोड आर्टिलरी गन सिस्टम (ATAGS) खरीदने के लिए टेंडर जारी कर चुकी है। साथ ही चीन और पाकिस्तान से लगी सीमाओं पर जरूरतों को देखते हुए माउंटेड गन सिस्टम को भी डेवलप किया जा रहा है।

युद्धपोत इंफाल की शिखा का अनावरण
दूसरी ओर, भारतीय नौसेना भी लगातार अपनी ताकत को और ज्यादा मजबूत करती जा रही है। इसी कड़ी में अत्याधुनिक युद्धपोत इंफाल की शिखा का मंगलवार को नई दिल्ली अनावरण किया जाएगा। इस युद्धपोत का निर्माण मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड (MDL) में किया गया और यह प्रोजेक्ट 15 बी श्रेणी का तीसरा विध्वंसक पोत है जो निर्देशित मिसाइल प्रणाली से लैस है। अप्रैल 2019 में इसके शुभांरभ के समय इस युद्धपोत को इंफाल नाम दिया गया और एमडीएल की ओर से 20 अक्टूबर 2023 को इसे भारतीय नौसेना को सौंप दिया गया। कमीशन से पहले टेस्ट के दौरान इस युद्धपोत ने हाल ही में विस्तारित रेंज की ब्रह्मोस मिसाइल का सफल प्रक्षेपण किया। इस असाधारण उपलब्धि के बाद अब इस युद्धपोत के शिखा अनावरण कार्यक्रम का भी शानदार तरीके से आयोजन किया जा रहा है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें