अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गंगा को स्वच्छ बनाने उतरेगी सेना, कानपुर से काशी तक करेगी पेट्रोलिंग

गंगा टास्क फोर्स का हेडक्वार्टर इलाहाबाद में बनाया गया है।

गंगा को स्वच्छ रखने के लिए सेना की भी मदद ली जा रही है। सेना ने भी इसे एक चुनौती की तरह स्वीकार किया है। इसके लिए गंगा टास्क फोर्स का गठन किया है। इसमें सेना की अलग-अलग टुकड़ियों से सैनिकों को लिया गया है, जो कानपुर से वाराणासी तक गंगा में पेट्रोलिंग करेंगे। इस दौरान स्वच्छता के लिए लोगों को जागरूक करेंगे और कचरा आदि फेंकने से रोकेंगे।

गंगा टास्क फोर्स का हेडक्वार्टर इलाहाबाद में बनाया गया है। इसकी तीन टुकड़ियों को कानपुर, इलाहाबाद और वाराणासी में तैनात किया गया है। ये टुकड़ियां अपने-अपने इलाके में लोगों को जागरूक कर रही हैं। सोमवार को सीएसए में केन्द्रीय मंत्री और मुख्यमंत्री के सामने गंगा टास्क फोर्स अपने कामों को प्रदर्शित करेगी।  गंगा टास्क फोर्स का पूरा खर्च फिलहाल रक्षा मंत्रालय द्वारा उठाया जा रहा है। जल्द ही निर्णय होगा कि इसका बजट कहां से और कैसे आएगा।

जनधन खाताधारकों को मिलेंगे कई तोहफे, 15 अगस्त को PM कर सकते हैं एलान

पानी से जुड़े तथ्यों की ली ट्रेनिंग 
गंगा टास्क फोर्स कानपुर के इंचार्ज 39 ग्रेनेडियर के रविन्दर भदौरिया ने बताया कि इस फोर्स से जुड़ने के लिए पानी से जुड़े कई तथ्यों की बाकायदा ट्रेनिंग ली गई है। दिन में दो बार गंगा के पानी का प्रेशर चेक करने के अलावा प्रदूषण जांचने का प्रशिक्षण लिया है। किस चीज का मिश्रण पानी में किस समय ज्यादा मिल रहा है, इस पर भी रिपोर्ट बन रही है। 

रिटायर जवानों और महिलाओं की भर्ती
गंगा टास्क फोर्स में सरकार जल्द आर्मी के रिटायर जवानों और महिलाओं की सीधी भर्ती करेगी। वर्तमान में सेना के जवानों को प्रतिनियुक्ति पर जल मंत्रालय में शिफ्ट करने का खाका भी तैयार किया जा रहा है। रक्षा मंत्रालय गंगा की सफाई में सीधे तौर पर हस्ताक्षेप नहीं कर सकता, इस कारण जवानों को जल मंत्रालय के अधीन लाने की योजना है।

पत्नी ने मांगा घर खर्च, फौजी ने खत में लिखकर कहा तलाक-तलाक-तलाक

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Indian army constitute Ganga Task Force to patrolling from Kanpur to Kashi