ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशपैरालंपिक में भारत को 19 पदक:  गृहमंत्री अमित शाह ने 'चमत्कार' के लिए पीएम मोदी को दिया क्रेडिट

पैरालंपिक में भारत को 19 पदक:  गृहमंत्री अमित शाह ने 'चमत्कार' के लिए पीएम मोदी को दिया क्रेडिट

टोक्यो पैरालंपिक खेलों में भारतीय खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 19 पदक जीते हैं। यह भारत का अब तक सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। देश के गृहमंत्री अमित शाह ने इस चमत्कार के लिए पीएम नरेंद्र मोदी को...

पैरालंपिक में भारत को 19 पदक:  गृहमंत्री अमित शाह ने 'चमत्कार' के लिए पीएम मोदी को दिया क्रेडिट
लाइव हिन्दुस्तान ,नई दिल्लीSun, 05 Sep 2021 09:10 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

टोक्यो पैरालंपिक खेलों में भारतीय खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 19 पदक जीते हैं। यह भारत का अब तक सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। देश के गृहमंत्री अमित शाह ने इस चमत्कार के लिए पीएम नरेंद्र मोदी को क्रेडिट दिया है। उन्होंने यूपीए सरकार के मुकाबले और एनडीए सरकार के दौर में पदकों की संख्या में हुई वृद्धि का ग्राफ दिखाकर यह जताया है कि मोदी सरकार में ही खेलों के अच्छे दिन आए हैं।  

गृहमंत्री अमित शाह ने ट्वीट किया, ''नए भारत के पास आसमान को जीतने वाले पंख हैं, उन्हें बस समर्थन और विश्वास की जरूरत है। और जब खुद सबसे बड़ा नेता मजबूती से उनके पीछे खड़ा हो... चमत्कार होता है। पैरालंपिक खेलों में ऐतिहासिक उपलब्धि दिखाता है कि महान नेतृत्व और युवा टैलेंट मिलकर क्या बदलाव ला सकते हैं।'' गृहमंत्री ने इस ट्वीट के साथ 2012 और 2016 में मिले पदकों की तुलना टोक्यो पैरालंपिक से की है। 

2012 के लंदन पैरालंपिक में भारत को 1 ही पदक से संतोष करना पड़ा था तो 2016 के रियो ओलंपिक में देश को 4 पदक मिले थे। वहीं, इस बार भारतीय खिलाड़ियों ने 5 स्वर्ण, आठ रजत और छह कांस्य पदक मिलाकर कुल 19 पदक जीते और पैरालंपिक में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया जिससे देश पदक तालिका में 24वें स्थान पर रहा।

भारतीय खेलों के इतिहास में रहेगा विशेष स्थान: मोदी
 

टोक्यो पैरालंपिक में भारतीय खिलाड़ियों के शानदार प्रदर्शन के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि भारतीय खेलों के इतिहास में टोक्यो पैरालंपिक का हमेश विशेष स्थान रहेगा। पीएम मोदी ने कहा, ''भारतीय खेलों के इतिहास में टोक्यो पैरालंपिक का हमेश विशेष स्थान रहेगा। प्रत्येक भारतीय की स्मृति में ये खेल अंकित रहेंगे और खेलों के प्रति जुनून के लिए खिलाड़ियों की पीढ़ियों को प्रोत्साहित करते रहेंगे। इस दल का प्रत्येक सदस्य विजेता है और प्रेरणा स्रोत है।'' प्रधानमंत्री ने आगे कहा, ''भारत ने ऐतिहासिक संख्या में पदक जीते हैं और उससे हम प्रसन्नता से भरे हैं। मैं कोच, सहयोगी कर्मचारियों और खिलाड़ियों के परिवारों की सराहना करता हूं कि उन्होंने खिलाड़ियों को लगातार सहयोग दिया। हम खेलों में बेहतर भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए इस सफलता को बनाए रखने की उम्मीद करते हैं।''