ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशयात्रियों की हुई बल्ले-बल्ले, पहली वंदे भारत स्लीपर ट्रेन जल्द भरेगी फर्राटा, जानें बाकी डिटेल

यात्रियों की हुई बल्ले-बल्ले, पहली वंदे भारत स्लीपर ट्रेन जल्द भरेगी फर्राटा, जानें बाकी डिटेल

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पहली वंदे भारत स्लीपर ट्रेन में कुल 16 कोच लगाए जाएंगे। इनमें से 10 कोच थर्ड AC के लिए, 4 कोच सेकंड एसी के लिए और एक कोच फर्स्ट एसी के लिए आरक्षित रहेगा।

यात्रियों की हुई बल्ले-बल्ले, पहली वंदे भारत स्लीपर ट्रेन जल्द भरेगी फर्राटा, जानें बाकी डिटेल
Niteesh Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 25 Jun 2024 06:25 PM
ऐप पर पढ़ें

वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन से यात्रा पसंद करने वालों के लिए खुशखबरी है। भारतीय रेलवे की ओर से जल्द ही देश को पहली वंदे भारत स्लीपर ट्रेन की सौगात मिल सकती है। रिपोर्ट के मुताबिक, अगले स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त) तक भारत को पहली वंदे भारत स्लीपर ट्रेन मिल सकती है। बताया जा रहा है कि यह ट्रेन दिल्ली और मुंबई के बीच फर्राटा भरेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से इस ट्रेन का शुभारंभ किया जा सकता है। इंडिया टीवी ने सूत्रों के हवाले से बताया कि बेंगलुरु में वंदे भारत स्लीपर ट्रेन का निर्माण कार्य जोरशोर से चल रहा है जो अब अपने अंतिम चरण में है।

रिपोर्ट के मुताबिक, वंदे भारत स्लीपर ट्रेन में कुल 16 कोच लगाए जाएंगे। इनमें से 10 कोच थर्ड AC के लिए, 4 कोच सेकंड एसी के लिए और एक कोच फर्स्ट एसी के लिए आरक्षित रहेगा। वंदे भारत स्लीपर ट्रेन में 2 सीटिंग कम लगेज रेक (SLR) कोच भी लगे होंगे। सूत्रों का कहना है कि वंदे भारत स्लीपर ट्रेन पहले चरण में 130 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ेगी। इसके बाद धीरे-धीरे ट्रेन की स्पीड बढ़ाने का प्लान है। कहा जा रहा है कि 160 से 220 किलोमीटर प्रति घंटे तक की रफ्तार से यह ट्रेन फर्राटा भर सकती है।

दिल्ली और मुंबई का रूट ही क्यों चुना गया
आखिर रेलव ने दिल्ली और मुंबई के बीच ही वंदे भारत स्लीपर ट्रेन चलाने की योजना क्यों बनाई? इसका जवाब यह है कि दिल्ली-मुंबई रूट पर काफी बिजी रहता है। इन दो शहरों के बीच यात्रा करने वालों की संख्या अधिक है और इस तरह की मांग भी उठाई जा रही थी। दूसरी ओर, बुलेट ट्रेन को लेकर बड़ा अपडेट सामने आया है। इस प्रोजेक्ट के लिए गुजरात में दिल्ली-मुंबई नेशनल एक्सप्रेसवे पर 130 मीटर लंबे ‘मेक इन इंडिया’ स्टील ब्रिज का निर्माण पूरा कर लिया गया। स्टील ब्रिज का निर्माण गुजरात में वडोदरा के पास दिल्ली-मुंबई नेशनल एक्सप्रेसवे पर किया गया। सड़क यातायात को बाधित न करते हुए स्टील ब्रिज का निर्माण 24 घंटों के भीतर पूरा किया गया।