DA Image
हिंदी न्यूज़ › देश › पाकिस्तान में हिंदू मंदिर तोड़े जाने पर सख्त मोदी सरकार, राजनयिक को किया तलब
देश

पाकिस्तान में हिंदू मंदिर तोड़े जाने पर सख्त मोदी सरकार, राजनयिक को किया तलब

लाइव हिन्दुस्तान, नई दिल्लीPublished By: Gaurav
Thu, 05 Aug 2021 08:08 PM
पाकिस्तान में हिंदू मंदिर तोड़े जाने पर सख्त मोदी सरकार, राजनयिक को किया तलब

पाकिस्तान कितना भी शांतिदूत बनने का छद्म और झूठा प्रयास करे लेकिन उसका सच समय-समय पर अपने आप ही सामने आ जाता है। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में मुस्लिमों की भीड़ ने मंदिर पर हमला कर दिया और वहां मौजूद प्रतिमाओं से भी तोड़फोड़ कर दी। हालात इतने बेकाबू थे कि पुलिस भी मूक दर्शक बनी रही। इस घटना पर नरेंद्र मोदी सरकार ने काफी सख्त कदम उठाया है। भारत ने गुरुवार को दिल्ली में पाकिस्तान के शीर्ष राजनयिक को तलब किया है।

दरअसल, चार अगस्त की देर रात पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में कट्टरपंथियों की भीड़ ने एक हिंदू मंदिर पर हमला कर दिया। इस भीड़ ने मंदिर में लगी देवी-देवताओं की प्रतिमाओं को भी तहस-नहस कर डाला। इस घटना का विरोध भारत में हुआ। सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों ने पाकिस्तान की इमरान खान सरकार पर निशाना साधा। इसी कड़ी में अब भारत सरकार ने ना सिर्फ दिल्ली में पाकिस्तान के शीर्ष राजनयिक को तलब किया बल्कि मंदिर की तोड़फोड़ पर कड़ा विरोध दर्ज कराया है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा कि भारत ने पाकिस्तान में अल्पसंख्यक समुदायों की धार्मिक स्वतंत्रता पर निरंतर हमलों को लेकर अपनी गंभीर चिंताओं से भी पाकिस्तानी राजनयिक को अवगत कराया है। बागची ने मीडिया ब्रीफिंग में कहा कि यहां पाकिस्तानी उच्चायोग के प्रभारी को गुरूवार दोपहर तलब किया गया और पाकिस्तान में हुई इस निंदनीय घटना को लेकर, अल्पसंख्यक समुदायों की धार्मिक स्वतंत्रता एवं उनके धार्मिक स्थलों पर लगातार हो रहे हमलों पर अपनी गंभीर चिंता प्रकट करते हुए कड़ा विरोध दर्ज कराया है. 

पाकिस्तान के मंदिर में यह हमला उस समय हुआ जब पंजाब प्रांत में मुस्लिमों की भीड़ ने मंदिर पर धावा बोल दिया। हालात इतने बेकाबू थे कि पुलिस भी मूकदर्शक बनी रही और आखिरकार स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पाकिस्तानी रेंजर्स को बुलाना पड़ा। पुलिस ने बताया कि मुस्लिमों की भीड़ ने बुधवार को मंदिर पर हमला किया। यह मामला रहीम यार खान जिले के भोंग शहर का है, जो लाहौर से करीब 590 किलोमीटर दूरी पर है।

पुलिस के मुताबिक, भीड़ ने कथित तौर पर एक मदरसे के अपमान का बदला लेने के लिए मंदिर में तोड़फोड़ की। हालांकि घटना के बाद बुधवार को सत्ताधारी पाकिस्तानी तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के सांसद डॉक्टर रमेश कुमार वंकवनी ने अपने ट्विटर अकाउंट से इस हमले का वीडियो ट्वीट कर पुलिस से तुरंत मौके पर पहुंचने को कहा। सिलसिलेवार किए कई ट्वीट में उन्होंने कहा कि भोंग शहर में हिंदू मंदिर पर हमला किया गया। यहां कल से स्थिति काफी तनावपूर्ण है। स्थानीय पुलिस द्वारा की गई लापरवाही शर्मनाक है। 

संबंधित खबरें