DA Image
5 मार्च, 2021|3:29|IST

अगली स्टोरी

भारत की बड़ी कामयाबी, ब्रिटेन से आए कोरोना के नए स्ट्रेन को अलग करने वाला पहला देश बना

a traveller has her temperature checked at an airport  reuters file photo

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने शनिवार को कहा कि ब्रिटेन में सामने आये कोरोना वायरस के नए प्रकार (स्ट्रेन) का भारत ने सफलतापूर्वक आइसोलेट और कल्चर किया है। कल्चर एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसके तहत कोशिकाओं को नियंत्रित परिस्थितियों के तहत उगाया जाता है और आमतौर पर उनके प्राकृतिक वातावरण के बाहर ऐसा किया जाता है। 

आईसीएमआर ने एक ट्वीट में दावा किया कि किसी भी देश ने ब्रिटेन में पाए गए सार्स-कोवी-2 के नए प्रकार को अब तक सफलतापूर्वक पृथक या कल्चर नहीं किया है। आईसीएमआर ने कहा कि वायरस के ब्रिटेन में सामने आए नए प्रकार को सभी स्वरूपों के साथ राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान में अब सफलतापूर्वक पृथक और कल्चर कर दिया गया है। इसके लिए नमूने ब्रिटेन से लौटे लोगों से एकत्र किए गए थे।

उल्लेखनीय है कि ब्रिटेन ने हाल ही में घोषणा की थी कि वहां लोगों में वायरस का एक नया प्रकार पाया गया है, जो 70 प्रतिशत तक अधिक संक्रामक है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा था कि सार्स-कोवी-2 के इस नए स्ट्रेन से भारत में अब तक कुल 29 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है।

भारत में कोरोना वायरस के खतरनाक स्ट्रेन दिन पर दिन पैर पसारते जा रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शुक्रवार को दी गई जानकारी के मुताबिक भारत में कोरोना वायरस के नए प्रकार के चार और मिले हैं। जिसके बाद देश में इन मरीजों की कुल संख्या 29 पहुंच गई है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:India successfully isolates cultures UK-variant of Sars-CoV-2 says ICMR