ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशUN की भरी सभा में फिर पानी-पानी हुआ पाकिस्तान, अब किस बात पर भारत ने लताड़ा

UN की भरी सभा में फिर पानी-पानी हुआ पाकिस्तान, अब किस बात पर भारत ने लताड़ा

India-Pakistan: कुछ समय पहले विदेश मंत्री एस जयशंकर ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा था कि पाकिस्तान का भविष्य उसके ही फैसलों पर टिका हुआ है। खास बात है कि पाकिस्तान आर्थिक संकट का सामना कर रहा है।

UN की भरी सभा में फिर पानी-पानी हुआ पाकिस्तान, अब किस बात पर भारत ने लताड़ा
Nisarg Dixitलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 29 Feb 2024 08:05 AM
ऐप पर पढ़ें

UN में भारत पर सवाल उठा रहे पाकिस्तान को एक बार फिर मुंहतोड़ जवाब मिला है। भारत का कहना है कि खराब मानवाधिकार रिकॉर्ड्स वाले पाकिस्तान को भारत पर टिप्पणी करने का कोई अधिकार नहीं है। साथ ही आरोप लगाए हैं कि पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र मावनाधिकार परिषद के मंच का फिर गलत इस्तेमाल किया है।

बुधवार को मानवाधिकार परिषद के 55वें सत्र में भारत की तरफ से प्रथम सचिव अनुपमा सिंह ने साफ कर दिया, 'जम्मू और कश्मीर और लद्दाख भारत का अभिन्न अंग हैं।' भारत ने कहा कि क्षेत्र में सुशासन, आर्थिक और सामाजिक विकास के लिए भारत सरकार की तरफ से किए जा रहे प्रयास भारत का आंतरिक मामला है। भारत ने कहा इन मामलों पर बात करने का अधिकार पाकिस्तान को नहीं है।

पाकिस्तान में मानवाधिकार की स्थिति लेकर सिंह ने कहा, 'एक देश जिसने अपने खुद के अल्पसंख्यकों के प्रणालीगत उत्पीड़न को संस्थागत बना दिया है और उसका मानवाधिकार रिकॉर्ड निराशाजनक है...।'

उन्होंने कहा, 'एक ज्वलंत उदाहरण अगस्त 2023 में पाकिस्तान के जरनवाला शहर में अल्पसंख्यक ईसाई समुदाय के साथ बड़े स्तर पर हुई क्रूरता है। तब 19 चर्चों को तोड़ दिया गया था और 89 ईसाई घरों को जला दिया गया था। तीसरा एक ऐसा देश, जो UNSC में नामित आतंकियों को पनाह देता है, वह भारत पर टिप्पणी कर रहा है जिसकी लोकतांत्रिक साख दुनिया के लिए उदाहरण है। यह हर किसी के लिए विरोधाभासी है।'

उन्होंने कहा, 'हम ऐसे देश पर ध्यान नहीं दे सकते, जो आतंकवाद से हुए खून खराबे के लाल रंग में डूबा हुआ है, जो कर्ज से दबी बैलेंस शीट के लाल रंग से रंगा हुआ है और शर्म के उस लाल रंग से रंगा है, जो उसके लोग अपनी ही सरकार के लिए महसूस करते हैं जो उनके हितों को पूरा नहीं कर सकी।'

खास बात है कि कुछ समय पहले भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा था कि पाकिस्तान का भविष्य उसके ही फैसलों पर टिका हुआ है। खास बात है कि पाकिस्तान आर्थिक संकट का सामना कर रहा है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें