गुरुवार को बृहत बेंगलुरु महानगर पालिका (बीबीएमपी) द्वारा साझा किए गए अपने यात्रा इतिहास के रिकॉर्ड के अनुसार ओमिक्रॉन से संक्रमित दो यात्रियों में से एक ने यूएई की यात्रा की थी। इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 66 वर्षीय व्यक्ति, जो 20 नवंबर को भारत आया था और टेस्ट के दौरान कोरोना पॉजिटिव पाया गया था, ने कथित तौर पर सात दिन बाद दुबई के लिए उड़ान भरी। उसे कोरोना वायरस वैक्सीन की दोनों खुराक लगी थी।

बेंगलुरु नगर निगम द्वारा जारी मरीज की यात्रा से संबंधित हर जानकारी:

1. मरीज ने इसी साल 20 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका से भारत की यात्रा की थी। इस दौरान उसके पास कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट थी। वापसी पर केआईए बैंगलोर में उसकी जांच और परीक्षण किया गया।

2. भारत आने पर उसने 20 नवंबर को ही को एक होटल में चेक इन किया। इस दौरान उसकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

3. UPI-IC के डॉक्टर ने फिजिकल ट्राइएज के लिए होटल का दौरा किया और उन्हें होटल में ही सेल्फ आइसोलेशन की सलाह दी गई।

4. 22/11/2021 को उसके परीक्षण नमूने एकत्र किए गए और बीईएमपी के माध्यम से जीनोमिक सीक्वेंसिंग के लिए भेजे गए।

5. मरीज ने 23/11/2021 को निजी लैब में कोरोना की जांच कराई, जिसमें रिपोर्ट निगेटिव थी।

6. मरीज के संपर्क में 24 लोग आए थे। उन सभी की टेस्टिंग की गई। सभी की रिपोर्ट निगेटिव है।

7. 22 और 23 तारीख को यूपीएचसी की टीम ने 240 सेकेंडरी कॉन्टैक्ट्स से सैंपल लिए, सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई।

8. मरीज ने 27/11/2021 को मध्यरात्रि 00:12:34 बजे चेक आउट किया। एयरपोर्ट के लिए कैब ली। दुबई की यात्रा की।

इससे पहले, आज दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव, लव अग्रवाल ने पुष्टि की कि कर्नाटक में कोरोना वायरस के नए ओमिक्रॉन से संक्रमित दो मामलों का पता चला है। 66 और 46 वर्ष की आयु के दोनों रोगियों ने हल्के लक्षणों की सूचना दी है।

लव अग्रवाल ने कहा कि INSACOG नेटवर्क के माध्यम से दो ओमिक्रॉन मामलों का पता लगाने के बाद, उनके सभी प्राथमिक और माध्यमिक संपर्कों का समय पर पता लगाया गया और उनका परीक्षण किया जा रहा था।

केंद्र सरकार ने लोगों से घबराने की नहीं बल्कि कोविड-उपयुक्त व्यवहार का पालन करने और बिना देर किए टीकाकरण कराने का आग्रह किया। अधिकारी ने कहा, "हमें ओमिक्रॉन का पता लगाने से घबराने की जरूरत नहीं है, लेकिन जागरूकता बेहद जरूरी है। कोविड-उपयुक्त व्यवहार का पालन करें और सभाओं से बचें।"