DA Image
18 अक्तूबर, 2020|8:50|IST

अगली स्टोरी

India-China Standoff: भारत-चीन के बीच कब खत्म होगा तनाव? मोल्डो में आज होगी कोर कमांडर स्तर की बातचीत

pangong tso

पूर्वी लद्दाख में भारत-चीन में चार महीनों से भी ज्यादा समय से जारी सीमा गतिरोध के बीच एक बार फिर से दोनों पक्षों में बातचीत होने जा रही है। दोनों देशों के बीच कोर कमांडर स्तर की वार्ता आज एलएसी के मोल्डो में होगी। इससे पहले सभी वार्ताओं में भारत-चीन तनाव को कम करने पर बात करते आए हैं, लेकिन अभी तक सफलता नहीं मिल सकी है।

न्यूज एजेंसी पीटीआई को सरकारी सूत्रों ने बताया, 'भारत और चीन के बीच सोमवार को कोर कमांडर स्तर की वार्ता पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के चीन वाले हिस्से मोल्डो में होगी।' इससे पहले दोनों पक्षों में पांच बार कोर कमांडर स्तर की वार्ताएं हो चुकी हैं और सोमवार को छठे दौर की वार्ता होगी।

पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में 15 जून को चीनी सैनिकों के साथ झड़प में 20 भारतीय सैनिकों के शहीद होने के बाद वास्तविक नियंत्रण रेखा पर तनाव काफी बढ़ चुका है। इस झड़प में चीनी पक्ष के जवान भी मारे गए थे लेकिन चीन ने इस बारे में और अधिक जानकारी जाहिर नहीं की थी। 

इससे पहले, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल और चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत के बीच शुक्रवार को हाई लेवल बैठक हुई थी, जिसमें चीन के साथ वार्ता के दौरान उठाए जाने वाले एजेंडे और मुद्दों पर चर्चा की गई।

एलएसी पर तनातनी और वॉर की आशंका के मद्देनजर भारतीय सेना के हौसले पूरी तरह से बुलंद है। दुश्मन के किसी भी दुस्साहस का मुंहतोड़ जवाब देने के लिए भारतीय सेना जम्मू-कश्मीर से लेकर लद्दाख तक पूरी तरह तैयार है। वहीं, सेना प्रमुख जनरल एम.एम. नरवणे राज्य की सुरक्षा स्थिति और सुरक्षा बलों के ऑपरेशनल तैयारियों का जायजा लेने के लिए गुरुवार को श्रीनगर और जम्मू कश्मीर के दौरे पर पहुंचे थे।

वहीं, पिछले तीन हफ्तों में चीन को भारतीय सेना ने करारा जवाब दिया है। सेना ने पूर्वी लद्दाख की वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर छह नई अहम चोटियों पर अपना कब्जा जमा लिया है। इससे पड़ोसी देश को झटका लगते हुए भारत को बढ़त हासिल हो गई है। सरकार के शीर्ष सूत्रों ने बताया कि 29 अगस्त से लेकर सितंबर महीने के दूसरे हफ्ते तक भारतीय सेना ने छह नई चोटियों पर कब्जा किया है। उन्होंने कहा, 'हमारे जवानों द्वारा कब्जे में ली गईं चोटियों के नाम हैं, द मागर हिल, गुरुंग हिल, रेचेन ला, मोखपारी और फिंगर 4 के पास की प्रमुख चोटी शामिल हैं।'

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:India-China to hold Corps Commander-level talks on Monday at Moldo on Ladakh LAC border stand-off