DA Image
हिंदी न्यूज़ › देश › India-China Standoff: भारत-चीन के बीच लद्दाख में कोर कमांडर स्तर की हुई बातचीत, पहली बार शामिल हुए भारतीय विदेश मंत्रालय के अधिकारी
देश

India-China Standoff: भारत-चीन के बीच लद्दाख में कोर कमांडर स्तर की हुई बातचीत, पहली बार शामिल हुए भारतीय विदेश मंत्रालय के अधिकारी

राहुल सिंह, हिन्दुस्तान टाइम्स,नई दिल्लीPublished By: Madan Tiwari
Mon, 21 Sep 2020 11:24 PM
India-China Standoff: भारत-चीन के बीच लद्दाख में कोर कमांडर स्तर की हुई बातचीत, पहली बार शामिल हुए भारतीय विदेश मंत्रालय के अधिकारी

भारत और चीन के वरिष्ठ सैन्य कमांडरों ने सोमवार को पूर्वी लद्दाख में भारतीय विदेश मंत्रालय के संयुक्त सचिव के साथ वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के चीनी ओर मोल्डो में तनाव को कम करने को लेकर बैठक की। एलएसी पर हुई बैठक में पहली बार संयुक्त सचिव स्तर के अधिकारी शामिल हुए। यह जानकारी मामले को जानने वाले अधिकारियों ने दी।

दोनों पक्षों के बीच कोर कमांडर स्तर की यह वार्ता सोमवार सुबह 9 बजे शुरू हुई। हालांकि, बैठक कितनी सफल रही और किन-किन मुद्दों पर चर्चाएं हुईं, देर रात तक इसकी जानकारी सामने नहीं आ सकी थी। अधिकारियों ने नाम न छापने की शर्त पर सहयोगी अखबार हिन्दुस्तान टाइम्स बताया कि अधिकारियों में दो भारतीय लेफ्टिनेंट जनरल शामिल थे, जिन्होंने बातचीत में हिस्सा लिया। एक हरिंदर सिंह, जो लेह स्थित 14 कोर के प्रमुख हैं और दूसरे उनके उत्तराधिकारी पीजीके मेनन। अगले महीने कोर कमांडर के रूप में अपना एक साल का कार्यकाल पूरा करने के बाद मेनन लेह में सिंह की जगह लेंगे। मेनन भी सोमवार को हुई इस वार्ता में शामिल थे।

यह भी पढ़ें: चीन से तनातनी के बीच भारतीय वायुसेना की चाक-चौबंद तैयारी, लद्दाख में राफेल और मिराज ने भरी उड़ान

बातचीत में संयुक्त सचिव स्तर के एक अधिकारी को भी शामिल किया गया, ताकि वार्ता के किसी ओर जाने को सुनिश्चित किया जा सके। इसकी जानकारी हिन्दुस्तान टाइम्स ने पहले ही दे दी थी। भारत-चीन के बीच कोर कमांडर स्तर की वार्ता भारतीय सेना द्वारा लद्दाख की कई चोटियों पर कब्जा जमाने के बाद पहली बार हुई थी। भारतीय सेना ने 29-30 अगस्त की रात को दक्षिणी पैंगोंग की ऊंचाइयों पर चीनी सेना की घुसपैठ की कोशिशों को नाकाम कर दिया था।

कई चोटियों पर कब्जा जमाने के बाद भारत की चीन की तुलना में स्थिति काफी मजबूत हो गई है। सेना लगातार चीनी सैनिकों पर नजर रख रही है। 10 सितंबर की 'हिन्दुस्तान टाइम्स' की रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय सेना ने उत्तरी पैंगोंग की अहम चोटियों पर भी अपना कब्जा जमा लिया है। अधिकारियों ने कहा कि पैंगोंग सो के दोनों तटों पर हाल के घटनाक्रमों से भारतीय सेना काफी मजबूत हुई है, जिससे भारत की सौदेबाजी की शक्ति को भी बढ़ा दिया है।

संबंधित खबरें