DA Image
17 सितम्बर, 2020|1:15|IST

अगली स्टोरी

ब्रिक्स एनएसए बैठक में शामिल होंगे भारत और चीन, लेकिन नहीं होगी द्विपक्षीय बातचीत

file photo  national security advisor ajit doval   raj k raj  ht photo

भारत और चीन के बीच सीमा पर भारी तनाव के बीच राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और उनके चीनी समकक्षीय यांज जिएची गुरुवार को ब्राजील-रूस-भारत-दक्षिण अफ्रीका की वर्चुअल बैठक में हिस्सा लेंगे। ब्रिक्स देशों के बीच एनएसए की 10 बैठक रूस की अध्यक्षता में किए जा रहे कार्यक्रमों का एक हिस्सा है। रूस वर्तमान में ब्रिक्स की अध्यक्षता कर रहा है।

रूस की तरफ से आयोजित बहुपक्षीय बैठकों में भारत और चीन के शीर्ष नेताओं के बीच यह इस महीने की चौथी बैठक होगी। इससे पहले, ब्रिक्स के विदेश मंत्रियों की वर्चुअल मीटिंग और उसके बाद मॉस्को में शंघाई सहयोग संगठन के दौरान रक्षा मंत्रियों और रक्षा मंत्रियों के बीच बैठक हुई है।

ये भी पढ़ें: चीन की जासूसी पर केंद्र ने दिए जांच के आदेश, 30 दिन में मांगी रिपोर्ट

पूरे मामले से वाकिफ सूत्र ने बताया कि 4 सितंबर के ब्रिक्स विदेश मंत्रियों की तरह गुरूवार को होने वाली भारत और चीन के बीच राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों के बीच बातचीत की कोई उम्मीद नहीं है। एक सूत्र ने बताया, “राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों के बीच एजेंडा पर चर्चा की जाएगी और बयान जारी किया जाएगा, जिसके बारे में पहले ही फैसला किया जा चुका है। ब्रिक्स के अलावा द्विपक्षीय बातचीत की कोई संभावना नहीं है।”

17 सितंबर को रूस की अध्यक्षता में 10वीं ब्रिक्स राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की बैठक आयोजित की जाएगी। रूस की तरफ से जारी बयान के मुताबिक, ब्रिक्स एनएसए की बैठक के दौरान “खतरों और राष्ट्रीय राष्ट्रीय सुरक्षा की चुनौतियों” पर चर्चा की जाएगी।

पिछले कई महीने से चले आ रहे सीमा विवाद के चलते सबसे निचले स्तर पर पहुंचे द्विपक्षीय संबंधों के बीच हालांकि भारत और चीन की तरफ से यह स्पष्ट किया गया है कि वे किसी तीसरे पक्ष की मध्यस्थता नहीं चाहते है। लेकिन, रूस ने दोनों पक्षों से कहा कि वे बातचीत के जरिए मतभेदों का समाधान करें।

ये भी पढ़ें: केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी कोरोना पॉजिटिव

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:India and China will join NSA in BRICS meeting but will not have bilateral talks