अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुरक्षा के चलते आसाराम पर जेल में ही सुनाया जाएगा हाईकोर्ट का फैसला

Asaram

यौन उत्पीड़न केस में जोधपुर सेंट्रल जेल में बंद आसाराम पर फैसला अब जेल में ही सुनाया जाएगा। भारी संख्या में भक्तों के पहुंचने और सुरक्षा कारणों के चलते हाईकोर्ट ने इस बारे में पुलिस की ओर से दी गई अर्जी पर सुनवाई के बाद मंगलवार की दोपहर यह फैसला सुनाया।

सुनवाई के दौरान डीसीपी ईस्ट अमनदीप कपूर सहित पुलिस के आला अफसर कोर्ट में मौजूद रहे। इससे पहले सुबह जस्टिस गोपालकृष्ण व्यास की खण्डपीठ ने पुलिस विभाग की अर्जी पर दोनों पक्षों को सुनकर कर फैसला सुरक्षित रख लिया था। हाईकोर्ट के इस फैसले के बाद पुलिस ने अब राहत की सांस ली है।

आसाराम प्रकरण:अदालत के फैसला आने से पहले बढ़ी पीड़िता के घर की सुरक्षा

गौरतलब है कि यौन उत्पीड़न के इस मामले में एससी-एसटी कोर्ट पीठासीन अधिकारी मधुसुदन शर्मा आगामी 25 अप्रैल को फैसला सुनाने वाले हैं। पुलिस की तरफ से जोधपुर हाईकोर्ट में अर्जी लगाकर यह कहा गया था यहां पर राम रहीम पर फैसला सुनाने के बाद पंचकूला की जो स्थिति बनी थी वैसी ही हालत आसाराम को कोर्ट में पेश करने पर हो सकती है। लिहाजा, जेल में ही आसारामर पर फैसला सुनाया जाना चाहिए।

आसाराम पर रेप और हत्या की कोशिश समेत लगे हैं ये संगीन आरोप

आसाराम पर फैसले की तारीख को देखते हुए पुलिस सतर्क हो गई है और किसी तरह की अनहोनी से बचने के लिए वे लगातार रेल मार्ग और हवाई मार्गों पर भी नजर रख रही है।

ये भी पढ़ें: आसाराम के आश्रम में सेवादार ने फांसी लगाकर की खुदकुशी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:In sexual exploitation case High Court verdict on Asaram to be pronounce in jail